मुंबई के डॉक्टरों ने किया कमाल, निकाला सबसे बड़ा ब्रेन ट्यूमर

128 0
  • नायर अस्पताल में सात घंटे तक सर्जरी के बाद डॉक्टरों को मिली कामयाबी
  • सर्जरी के बाद निकाला 1.873 किलो का ट्यूमर, मरीज की हालत में सुधार

मुंबई। भारत में डॉक्टरों ने 31 साल के एक शख्स के सिर से करीब दो किलो का ट्यूमर निकाला है। डॉक्टरों का मानना है कि इस तरह का ये दुनिया का सबसे बड़ा ट्यूमर हो सकता है। मुंबई के नायर अस्पताल में बीती 14 फरवरी को सात घंटे तक सर्जरी के बाद डॉक्टरों ने इसमें कामयाबी पाई। सर्जरी के बारे में किसी को जानकारी नहीं दी गई थी क्योंकि डॉक्टर इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं थे कि ये ऑपरेशन सफल होगा।

अस्पताल के न्यूरोसर्जरी प्रमुख डॉ. त्रिमूर्ति नाडकर्णी ने बताया, ‘उसे रिकवर होने में थोड़ा वक़्त लगेगा लेकिन फिलहाल वो ख़तरे से बाहर है।’ नायर हॉस्पिटल के डॉक्टरों का दावा है कि ये दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी ब्रेन ट्यूमर सर्जरी है। इससे पहले जो सर्जरी हुई थी, उसमें ट्यूमर का वजन 1.4 किलो था, जबकि इस सर्जरी में ट्यूमर 1.873 किलो का था। सर्जरी के बाद मरीज ठीक है और जल्द ही उसे हॉस्पिटल से भी छुट्टी मिल जाएगी। ट्यूमर की वजह से इस शख्स का सिर इतना बड़ा हो गया था कि लगता था उसके दो सिर हैं।

ऑपरेशन से पहले (बाएं) और ऑपरेशन के बाद संतलाल

इस खबर को हाल ही में तब सार्वजनिक किया गया, जब डॉक्टरों ने सुनिश्चित कर लिया कि मरीज संतलाल पाल की तबीयत ठीक हो रही है। संतलाल पाल को सिर में सूजन, सिरदर्द की शिकायत के बाद इलाज के लिए मुंबई लाया गया था। यहां उन्हें नायर हॉस्पिटल में जब भर्ती किया गया तब भी उनकी तबीयत ठीक नहीं थी। ट्यूमर की वजह से संतलाल को दिखना भी कम हो गया था। जब डॉक्टरों की उनकी जांच की तो उनके भी होश उड़ गए, क्योंकि ट्यूमर का आकार 30x30x20 सेमी था। डॉक्टरों ने भी पहले कभी इतना बड़ा ब्रेन ट्यूमर नहीं देखा था।

डॉ. नाडकर्णी ने बताया कि ये ऑपरेशन काफी जोखिम भरा था। मरीज संतलाल का ट्यूमर बढ़ता जा रहा था। सबसे पहले उनके ब्रेन का सीटी स्कैन और एमआरआई की गई। इसके बाद हमने 14 फरवरी को ऑपरेशन करने का जोखिम उठाया। ऑपरेशन के दौरान 11 यूनिट खून की जरूरत पड़ी। डॉक्टरों का कहना है कि ऑपरेशन के दौरान मरीज का 3.5 लीटर खून निकल गया। डॉ. बालासुब्रमण्यम का कहना है कि इससे पहले 1.4 किलो के ट्यूमर का रिकॉर्ड था, उसे भी मुंबई के ही केईएम अस्पताल में हटाया गया था।

संतलाल उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं और एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। तीन साल से उनके सिर में यह ट्यूमर पल रहा था। उत्तर प्रदेश में कम से कम तीन डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि ट्यूमर का ऑपरेशन नहीं किया जा सकता। डॉ. बालासुब्रमण्यम का कहना है कि ट्यूमर की वजह से संतलाल को लगातार सिर दर्द रहता था और इससे उनकी नजर पर भी असर पड़ा। उनके मुताबिक, ‘ट्यूमर के कारण उसे दिखना ही बंद हो गया था, लेकिन धीरे धीरे उसकी नजर बेहतर होती जाएगी।’

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *