गोरखपुर में स्टैटिक मजिस्ट्रेट ने बरामद किए 46 लाख कैश

96 0
  • सीएमएस कंपनी की वैन से बिना कागजात ले जाया जा रहा था कैश, पूछने पर दी गलत जानकारी

गोरखपुर। उपचुनाव में पानी की तरह पैसा बहाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। शुक्रवार को गोरखपुर में स्टैटिक मजिस्ट्रेट अमरेश यादव की टीम ने बिना कागजात के ले जाए जा रहे 46 लाख रुपये बरामद किए हैं। मजिस्ट्रेट के अनुसार, बिना कागजात के रुपये ले जाए जा रहे थे, पूछने पर गलत जानकारी भी दी गई।  इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट व जिला प्रशासन को इस बाबत सूचना दे दी गई है।

जानकारी के अनुसार, स्टैटिक मजिस्ट्रेट अमरेश कुमार यादव व उनकी पुलिस टीम शुक्रवार को विजय चौराहे पर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान सीएमएस इंफो टेक की वैन को चेकिंग के लिए रोका गया। पूछताछ में वैन में सवार कर्मचारी ने बताया कि एक लाख रुपये हैं। यादव ने बताया कि शक के आधार पर तलाशी लेने के लिए जब बोला गया तो उसने बताया कि अंदर भी एक लाख रुपये हैं। कर्मचारी के बार-बार बयान बदलने पर शक गहरा गया। टीम ने जब तलाशी ली तो वैन के अंदर 46 लाख रुपये मिले। इन रुपयों को जब्त कर इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट व जिला प्रशासन को सूचित कर दिया गया। मजिस्‍ट्रेट ने बताया कि गाड़ी में ले जाए जा रहे रुपयों से संबंधित कोई कागजात नहीं होने और वर्तमान में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण यह कार्रवाई की गई है।

गौरतलब है कि गोरखपुर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव की वजह से यहां आदर्श आचार संहिता लागू है। निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि 50 हजार रुपये से अधिक की रकम साथ लेकर चलने वालों को रुपये से संबंधित आवश्यक कागजात अपने साथ रखने होंगे। चेकिंग के दौरान अगर रुपयों से संबंधित आवश्यक प्रपत्र नहीं मिलते हैं तो रुपये सील कर आयकर विभाग को सुपुर्द कर दिया जाएगा।

Related Post

इस देश में बिना सुरक्षा के सड़कों पर घूमते हैं राष्ट्रपति, सिर्फ 33 है यहां की आबादी

Posted by - September 6, 2018 0
नेवादा। भारत में प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति को प्रोटोकॉल के तहत कई प्रकार की सुरक्षा दी जाती है। इनमें सुरक्षा एजेंसियां,…

धरती के लिए अच्छी खबर, पराबैंगनी किरणों से बचाने वाली ओजोन परत हुई दुरुस्त

Posted by - November 6, 2018 0
वॉशिंगटन। धरती के लिए अच्छी खबर है। संयुक्त राष्ट्र की नई रिपोर्ट में बताया गया है कि पराबैंगनी किरणों से…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *