नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान ने की 150 पेड स्नाइपर्स की तैनाती

99 0
  • इन्‍हीं शार्प शूटर के जरिए पाकिस्‍तान बना रहा भारतीय जवानों को निशाना
  • लश्कर, जैश हिजबुल आतंकियों को स्नाइपर के तौर पर किया गया है भर्ती

नई दिल्‍ली। पाकिस्तान की ओर से बॉर्डर पर भारतीय सेना और नागरिकों को निशाना बनाने की कायराना हरकत लगातार जारी है। भारतीय सेना की तरफ से पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब भी दिया जाता है, फिर भी पाकिस्तान बाज आने का नाम नहीं ले रहा है। सूत्रों की मानें तो बॉर्डर पर पाकिस्तान भारतीय जवानों को निशाना बनाने के लिए पेड स्नाइपर्स (शार्प शूटर) की सहायता ले रहा है। इसके बाद सुरक्षाबलों को अलर्ट पर रख दिया गया है।

खुफिया सूत्रों की मानें, तो पाकिस्तानी आर्मी और आईएसआई ने एलओसी और इंटरनेशनल बॉर्डर पर स्नाइपर तैनात किए हैं। पाकिस्तान की ओर से बॉर्डर पर लगभग 150 शार्प शूटरों को बिठाया गया है। ये स्नाइपर्स पीओके की तरफ तैनात हैं। इनका मुख्य निशाना माछिल, उरी, तंगधार, पुंछ बिम्बर गली, रामपुर, कृष्णा घाटी जैसे क्षेत्रों पर है। इन्‍हें पीओके में मौजूद ट्रेनिंग कैंप में पाक की ‘स्‍पेशल ऑपरेशन टीम’ के साथ प्रशिक्षित किया गया है।

बताया जा रहा कि पाक आर्मी के साथ आतंकी संगठन लश्कर, जैश और हिजबुल के आतंकियों को स्नाइपर के तौर पर भर्ती किया गया है। इन स्नाइपर्स को पाकिस्तान की मुजाहिद बटालियन के साथ कई जगहों पर तैनात किया गया है। पाक आर्मी के कमांडरों ने पाक अधिकृत कश्‍मीर के फगोश, बोई, मदारपुर और देवलियां में इन आतंकियों को ट्रेनिंग दी। पाक आर्मी इन आतंकियों को 50 हज़ार से एक लाख रुपये तक इनाम देती है। सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए पाकिस्तान चीन के सर्विलांस सिस्टम का इस्तेमाल कर रहा है। आतंकी संगठन के सरगना को इन शार्प शूटरों को भेजने का जिम्मा दिया गया है।  (एजेंसी)

Related Post

बच्चों से कुकर्म करने वालों को भी होगी फांसी ! POCSO एक्ट होगा जेंडर न्यूट्रल

Posted by - April 29, 2018 0
नई दिल्ली। अब तक बच्चियों के रेपिस्ट के खिलाफ पॉक्सो एक्ट का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन आने वाले दिन…

पाक ने फिर बरसाए गोले, जवान शहीद, जवाबी कार्रवाई में तीन पाक रेंजर ढेर

Posted by - January 18, 2018 0
जम्मू के अरनिया व आरएसपुरा सेक्टर में भारतीय चौकियों और रिहायशी इलाकों को बनाया निशाना जम्मू। पाकिस्तान ने एक बार…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *