मुख्य सचिव से मारपीट मामले में आप विधायक पर एफआईआर

104 0
  • अमानतुल्लाह खान पर सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, अधिकारी को बंधक बनाने का मामला दर्ज

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ सोमवार की रात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर विधायकों द्वारा की गई बदसलूकी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। दिल्ली पुलिस ने मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश की शिकायत पर आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। दिल्ली पुलिस ने विधायक के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, सरकारी अधिकारी को बंधक बनाने और उससे मारपीट की धाराओं में मामला दर्ज किया है।

मंगलवार को आईएएस एसोसिएशन ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए हड़ताल पर जाने की घोषणा कर दी। आईएएस एसोसिएशन ने शाम को राजघाट तक कैंडल मार्च निकालकर अपना विरोध दर्ज कराया। आईएएस एसोसिएशन ने मांग की है कि मुख्य सचिव के साथ हाथापाई करने वाले विधायकों को गिरफ्तार किया जाए। साथ ही उन्होंने दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार को बर्खास्त किए जाने की भी मांग की है। एसोसिएशन के महासचिव दीपक भारद्वाज ने मीडिया से कहा कि वे सभी इसी वक्त से हड़ताल पर जा रहे हैं। जब तक आरोपी विधायक मुख्य सचिव से माफी नहीं मांग लेते और वे उन्हें माफ नहीं कर देते तब तक काम पर वापस नहीं लौटेंगे।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उपराज्यपाल से मांगी रिपोर्ट
मुख्य सचिव ने इस मामले पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की। राजनाथ सिंह ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। गृह मंत्रालय ने इस मारपीट को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल से रपट मांगी है। आईएएस एसोसिएशन की सचिव मनीषा सक्सेना ने उपराज्यपाल के पास इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई है।

दिल्ली सचिवालय में कर्मचारियों का हंगामा
मुख्य सचिव के साथ दुर्व्यवहार को लेकर मंगलवार को दिल्ली सचिवायल के कर्मचारियों ने भी खूब हंगामा किया। सचिवालय में मौजूद विधायक अमानतुल्ला खान को घेरकर कर्मचारियों ने नारेबाजी की। सचिवालय स्‍टाफ ने आम आदमी पार्टी नेता आशीष खेतान का भी घेराव किया। हालात इतने उग्र हो गए कि पुलिस को बीचबचाव करना पड़ा।  (एजेंसी)

Related Post

अध्ययन में खुलासा : भारत में और अधिक घातक रूप में सामने आया मलेरिया

Posted by - October 6, 2018 0
नई दिल्‍ली। भारत में मलेरिया के मामलों में एक महत्‍वपूर्ण बदलाव देखने में आया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *