नीरव का पीएनबी को ठेंगा : कहा – खुलासा कर बिगाड़ी बात, पैसे लौटाना संभव नहीं

81 0
  • विदेश भागे नीरव ने पीएनबी को पत्र लिख कहा – मामला उजागर कर वसूली के सभी रास्ते बंद किए

मुंबई। पीएनबी में 11,000 करोड़ से अधिक का घोटाला कर देश से फरार हुए नीरव मोदी ने बैंक को चिट्ठी लिखकर अपनी बात कही है। इस चिट्ठी में नीरव मोदी ने सीनाजोरी दिखाते हुए साफ शब्दों में कह दिया है कि बैंक ने ये मामला सार्वजनिक कर बकाया वापसी के सभी रास्ते बंद कर दिए हैं। नीरव मोदी द्वारा पीएनबी को ये चिट्ठी 15/16 फरवरी को लिखी गई है। चिट्ठी में नीरव मोदी ने ये भी कहा है कि उनके ऊपर बकाया रकम बढ़ा-चढ़ाकर बताई गई है। नीरव ने लिखा है कि बकाया रकम 5000 करोड़ से भी कम है।

इस लेटर में फरार नीरव मोदी ने साफ लिखा है कि अब वो इसे चुकाने की स्थिति में नहीं हैं। नीरव मोदी अपने इस दावे के पीछे दलील भी दी है। चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि ये मामला सार्वजनिक हो जाने से उनके ब्रांड को नुकसान पहुंचा, जिससे उनका बिजनेस बर्बाद हो गया है और अब वो बैंक का बकाया चुकाने में सक्षम नहीं हैं। नीरव मोदी ने साफ कहा है कि पीएनबी ने मामले का खुलासा कर रकम वापसी के सारे रास्ते बंद कर दिए हैं। उन्होंने ये भी कहा है कि उनकी पत्‍नी का बिजनेस से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने लिखा, ‘मेरी पत्‍नी एमी और मामा मेहुल चौकसी पर गलत आरोप लगाए गए।’

बैंक को लिखे पत्र में नीरव मोदी ने बैंक अधिकारियों के साथ अपनी और अपने प्रतिनिधियों की बातचीत का हवाला भी दिया है। इसके अलावा बीते 13 और 15 फरवरी को भेजे अपने ई-मेल का भी जिक्र किया है। बता दें कि नीरव मोदी ने इस घोटाले के सार्वजनिक होने से पहले ही अपने परिवार के साथ जनवरी के पहले सप्ताह में देश छोड़ दिया था। पत्र के अनुसार, ‘गलत तौर पर बताई गई बकाया धनराशि से ‘मीडिया में होहल्ला’ हो गया, परिणामस्वरूप तत्काल तौर पर खोज का काम शुरू हो गया और परिचालन भी बंद हो गया। इससे समूह पर बैंक के बकाया को चुकाने की हमारी क्षमता खतरे में पड़ गई है।’

सीबीआई ने पीएनबी के तीन और अफसरों को दबोचा

पंजाब नेशनल बैंक के मुंबई स्थित ब्रैडी हाउस ब्रांच में हुए महाघोटाले में नीरव मोदी ग्रुप के साथ मिलीभगत के मामले में सीबीआई ने बैंक के 3 और बड़े अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। ये अधिकारी हैं – फोरेक्स विभाग के हेड चीफ मैनेजर बेचू तिवारी, यशवंत जोशी और प्रफुल्ल सावंत। बैंक में बेचू तिवारी की जिम्मेदारी थी कि वह गोकुल नाथ शेट्टी और उनके मैनेजर के कामकाज के तरीकों पर नजर रखें, जिनका काम सिस्टम से आए स्विफ्ट संदेशों पर नजर रखना था। फोरेक्स विभाग में स्केल टू मैनेजर यशवंत जोशी पर भी यही जिम्मेदारी थी, साथ ही उनको संदेशों और सीबीएस एंट्रीज की रोजाना रिपोर्ट तैयार करनी होती थी। प्रफुल्ल स्केल वन अधिकारी था जिसका काम बैंक में रोजाना स्विफ्ट संदेशों को चेक करना और रिपोर्ट तैयार करना होता था।  (एजेंसी)

नीरव के वकील ने कहा, 2जी की तरह खत्म हो जाएगा केस

नीरव मोदी के वकील विजय अग्रवाल

नई दिल्ली। पीएनबी में हुए हजारों करोड़ के घोटाले के बाद फरार नीरव मोदी के वकील ने दावा किया है कि यह केस 2जी और बोफोर्स की तरह ही खत्म हो जाएगा। मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एसआईटी जांच की याचिका दायर हुई है जिस पर 23 फरवरी को चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की बेंच सुनवाई करेगी। यह याचिका एडवोकेट विनीत ढांडा ने लगाई है। खबरों के अनुसार, नीरव मोदी के वकील विजय अग्रवाल ने कहा है कि जांच एजेंसिया मीडिया में हंगामा मचा रही हैं, लेकिन वो इस मामले में कुछ साबित नहीं कर पाएंगी। यह केस भी 2जी और बोफोर्स मामले की तरह खत्म हो जाएगा। मुझे यकीन है कि नीरव मोदी दोषी साबित नहीं होंगे।  (एजेंसी)

Related Post

संजीता चानू ने CWG में दिलाया देश को दूसरा गोल्ड, उठाया 192 किलो वजन

Posted by - April 6, 2018 0
गोल्ड कोस्ट। यहां चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय वेटलिफ्टरों का गोल्ड जीतने का सिलसिला जारी है। अब संजीता चानू…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *