झुग्गियों और चॉल में रह रहे हैं मेहुल चौकसी की कंपनियों के डायरेक्टर्स!

41 0
  • कंपनी द्वारा बताए अधिकतर डायरेक्टर या तो फर्जी या उनके बताए पते पर कोई और रह रहा

मुंबई। पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चौकसी और नीरव मोदी को लेकर एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं। सीबीआई ने मेहुल चौकसी समेत कंपनी के बाकी डायरेक्टर्स पर भी एफआईआर दर्ज की है, लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि कंपनी द्वारा बताए गए अधिकतर डायरेक्टर या तो फर्जी हैं या उनके बताए पते पर कोई और रह रहा है।

‘मुंबई मिरर’ की खबर के मुताबिक, गिली इंडिया लिमिटेड, नक्षत्र ब्रैंड लिमिटेड और गीतांजलि जेम्स कंपनी में ऑन पेपर डायरेक्टर्स के पते झुग्गी बस्तियों में मिले हैं। वहीं, जो शख्स इन पतों पर मिले हैं वो बेहद साधारण लोग हैं। कइयों ने तो यह तक दावा किया कि मेहुल चौकसी से उनका कोई लेना-देना नहीं है। कोई महज अकाउंटेंट है तो कोई सैलरी पाने वाला आम कर्मचारी।

मुंबई के कल्बादेवी चॉल भाटिया निवास में रहने वाले रौनक भाटिया बताते हैं, ‘मेरे पिता दिनेश गोपालदास भाटिया छोटे निवेशक हैं। घोटाला सामने आने के बाद से अधिकारी घर आकर पूछताछ करते हैं। उन्‍होंने बताया कि 2015 में गिली इंडिया और नक्षत्र ब्रांड के स्वतंत्र डायरेक्टर की पोजिशन उन्हें बहला-फुसलाकर ऑफर की गई थी। इस दौरान उनसे कई सारे डॉक्यूमेंट्स साइन करवाए गए, जबकि उनका इसमें कोई रोल नहीं है।’

वहीं, डायरेक्टर्स में अनियत शिवरमन नायर का नाम भी है, उन्हें गिली इंडिया लिमिटेड का डायरेक्टर बताया गया है। कागजात में उनका पता पूर्व कल्याण बताया गया है, लेकिन हकीकत तो यह है कि यह घर संकरी गली में स्थित चॉल है। जब इस घर में मौजूद लोगों से बात की गई तो पता लगा कि नायर कोई डायरेक्टर नहीं बल्कि पेशे से अकाउंटेंट हैं।

मेहुल चौकसी की पर्सनल असिस्टेंट ज्योति वोरा नक्षत्र ब्रांड लिमिटेड की डायरेक्टर बताई गई हैं। सीबीआई उनसे भी पूछताछ कर रही है। वोरा की दोस्त गायत्री रावल ने बताया कि ज्योति को कई माह से सैलरी नहीं मिली है। वह अकेली अपनी बेटियों की देखभाल करती हैं। पिछले कुछ समय से उनकी हालत ठीक नहीं है। इसी तरह कई डायरेक्टर्स के पते फर्जी पाए गए हैं। कइयों ने तो अपने घर किराए पर चढ़ा दिए हैं, वहीं कुछ की जानकारी गलत है। फिलहाल सीबीआई और ईडी मामले की जांच कर रही हैं।   (एजेंसी)

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *