भारतीय सेना की कार्रवाई में 1 जनवरी से अब तक मारे गए 20 पाक रेंजर्स

37 0
  • पाकिस्‍तान को जवाब देने के लिए भारतीय कमांडरों को मिली खुली छूट

श्रीनगर। भारतीय सेना ने इस साल लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर की गई फायरिंग में पाकिस्तान के 20 रेंजर्स को मार गिराया है, जबकि 7 जख्मी हुए हैं। इसके अलावा राज्य में उत्तर और दक्षिण पीर पंजाल वाले इलाके में 180 से 200 आतंकी एलओसी पार करने की कोशिश कर रहे हैं, लिहाजा सेना ने चौकसी बढ़ा दी है। उधर एलओसी पर पाकिस्तानी सैनिकों की किसी भी करतूत और हिंसा का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने अपने कमांडरों को खुली छूट दी है। पिछले कुछ हफ्तों से पाक की गोलाबारी का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने उसे भारी नुकसान पहुंचाया है। न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में सरकार के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी गई है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि घाटी में पाकिस्तान की ओर से लगातार किए जा रहे सीजफायर वॉयलेशन को देखते हुए इस वक्त सेना बहुत एक्टिव है। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान की कई पोस्ट तबाह कर दी गई हैं। 778 किलोमीटर लंबी एलओसी पर बालनोई, मेंढर, कालल, केरन, डोडा, जैसी जगहों पर दोनों ओर से करीब 4-5 महीने से कार्रवाई हो रही है। इसमें लाइट फील्ड गन, हैवी 120 एमएम मोर्टार और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल्स का इस्तेमाल किया जा रहा है।

पाक ने जारी किया रेड अलर्ट, भारतीय कमांडर्स का दौरा बढ़ा

भारतीय सेना की ओर से लगातार की जा रही कार्रवाई को देखते हुए पाकिस्तान में बॉर्डर से सटी चौकियों पर रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। इधर बॉर्डर वाले इलाकों में भारतीय कमांडरों का दौरा बढ़ गया है। इस तरह की कार्रवाई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही जारी है।

2017 में 138 पाक सैनिक मारे

भारतीय सेना ने 2017 में 138 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया। जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर की गई कार्रवाई में 155 पाकिस्तानी रेंजर्स जख्मी भी हुए। इस दौरान भारत के 28 जवान शहीद हो गए और 70 जख्मी हुए। हाल ही में न्यूज एजेंसी ने सरकार के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी थी।

2017 में कुल 210 आतंकी मारे गए

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पाकिस्तान से सटी एलओसी और इंटरनेशनल बॉर्डर पर पिछले साल (26 दिसंबर तक) सीजफायर तोड़ने की 820 घटनाएं हुईं। सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर में कुल 210 आतंकियों को मार गिराया। इनमें से 72 एलओसी और 148 कश्मीर के अंदरूनी इलाकों में मारे गए।  (एजेंसी)

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *