पीएनबी महाघोटाले में नीरव मोदी की 5100 करोड़ की संपत्ति जब्त

127 0
  • प्रवर्तन निदेशालय ने कहा – हांगकांग से निकाली गई थी घोटाले की रकम
  • नीरव और मेहुल चोकसी समेत चार आरोपियों को पूछताछ के लिए समन जारी
  • नीरव, त्‍नी एमी समेत परिवार के अन्य सदस्‍यों के पासपोर्ट रद्द करने की मांग

नई दिल्‍ली/मुंबई। पंजाब नेशनल बैंक में महाघोटाला उजागर होने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गुरुवार को अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की। एक्शन में आने के बाद ईडी ने बताया कि इस घोटाले की रकम हांगकांग से निकाली गई थी। अब ईडी हांगकांग के अधिकारियों के साथ संपर्क कर जानने की कोशिश कर रही है कि इस रकम का क्या हुआ। ईडी ने नीरव मोदी और मेहुल चोकसी समेत इस घोटाले के चार आरोपियों को पूछताछ के लिए समन भी जारी किया है।

इससे पहले, गुरुवार को ईडी ने नीरव मोदी के जयपुर, सूरत, दिल्ली समेत कुल 17 स्थानों पर छापेमारी की। नीरव मोदी के दफ्तरों, शोरूम और वर्कशाप पर  छापेमारी के दौरान ईडी ने करीब 5,100 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की। ईडी  की ओर से जब्त की गई संपत्ति में सोना, हीरा और कीमती पत्थर शामिल हैं। मामले में सीबीआई और पंजाब नेशनल बैंक की ओर से शिकायत मिलने के बाद ईडी ने छापेमारी और तलाशी अभियान की कार्रवाई की है। इसके अलावा ईडी ने विदेश मंत्रालय को खत लिखकर नीरव मोदी, उनकी पत्नी एमी मोदी समेत अन्य के पासपोर्ट रद्द करने की मांग की है।

ईडी के अधिकारियों ने बांद्रा कुर्ला कांप्लेक्स में भारत डायमंड बॉर्स में फायरस्टार डायमंड प्राइवेट लिमिटेड के मुख्यायल, कुर्ला पश्चिम स्थित कोहिनूर सिटी में नीरव मोदी के निजी दफ्तर, उनके शोरूम, दक्षिण मुंबई में फोर्ट स्थित इट्स हाउस में बुटिक और लोअर परेल में पेनिंसुला बिजनेस पार्क स्थित वर्कशाप में छापेमारी की। इसके अलावा गुजरात के सूरत में ईडी के अधिकारियों ने सचिन टाउन स्थित सूरत एसईजेड में हीरे की 6 कारखानों की तलाशी ली। इसके अलावा यहां हीरे-जेवरात के एक बड़े केंद्र रिंग रोड स्थित वेल्जियम टावर में एक दफ्तर पर भी ईडी का छापा पड़ा। नई दिल्ली के चाणक्यपुरी और डिफेंस कॉलोनी में मोदी की हीरों की दो दुकानों पर भी ईडी अधिकारियों ने छापे मारे।

यूरोप, यूएस और मध्यपूर्व में भी है नीरव का कारोबार

बताया जाता है कि नीरव मोदी का कारोबार भारत के अलावा यूरोप, अमेरिका, मध्यपूर्व व सुदूर पूर्व में भी है। इस घोटाले की रकम विजय माल्या के 9,000 करोड़ रुपये का भुगतान करने से मुकरने से बड़ी है। बैंकों को चूना लगाने के ये मामले तब उजागर हो रहे हैं, जब बैंकों के डूबे हुए कर्ज को लेकर भारतीय बैंकिंग प्रणाली सवालों के दौर से गुजर रही है।  (एजेंसी)

Related Post

हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी बना IPS ऑफिसर का भाई, तस्वीर वायरल

Posted by - July 9, 2018 0
जम्‍मू-कश्‍मीर यूनिवर्सिटी से यूनानी मेडिसिन की पढ़ाई कर रहा था शमसुल हक श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के युवाओं को मुख्‍यधारा में शामिल…

कटियार पर भड़के फारूक, कहा – ये किसी के बाप का नहीं, सबका देश

Posted by - February 8, 2018 0
नई दिल्ली। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने विनय कटियार के मुसलमानों को देश…

रेवाड़ी गैंगरेप : सेना के जवान समेत फरार दोनों मुख्य आरोपी भी पुलिस के शिकंजे में

Posted by - September 23, 2018 0
रेवाड़ी। रेवाड़ी में छात्रा से गैंगरेप मामले में एसआईटी को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। एसआईटी ने मामले में फरार चल…

भाजपा नेता अमू बोले – अब मेरा सपना लाल चौक पर फारुक अब्दुल्ला को मारूं थप्पड़

Posted by - November 29, 2017 0
दीपिका के सिर पर 10 करोड़ का इनाम रखने वाले बीजेपी नेता सूरजपाल अमू ने दिया पद से इस्तीफा चंडीगढ़।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *