पीएनबी घोटाला : हीरा कारोबारी नीरव मोदी के 9 ठिकानों पर ईडी ने मारे छापे

37 0
  • पंजाब नेशनल बैंक ने आरोपी नीरव मोदी और मेहुल के खाते फ्रॉड घोषित किए

नई दिल्ली/मुंबई। देश के दूसरे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक के साथ 11,400 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का खुलासा होने से हड़कंप मच गया है। इस बीच बैंक ने आरोपी नीरव मोदी और मेहुल के खाते फ्रॉड घोषित कर दिए हैं। ये दोनों रिश्ते में मामा-भांजे हैं। उधर, बैंक द्वारा अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ सीबीआई से इस धोखाधड़ी की शिकायत कर जांच का आग्रह किए जाने के बाद सीबीआई ने एफआईआर दर्ज कर ली है।

खबर है कि प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को नीरव मोदी के 9 ठिकानों पर छापा मारा है। ईडी ने सूरत में तीन, मुंबई में 4 और दिल्ली में दो ठिकानों पर छापेमारी की। मोदी ने धोखाधड़ी कर मुंबई की एक शाखा से साख पत्र हासिल किए और विदेशों में अन्य भारतीय बैंकों से पैसे ले लिये। वित्त मंत्रालय में वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने बताया कि बैंक की मुंबई स्थित एक शाखा से कुछ चुनिंदा खाताधारकों ने अवैध व धोखाधड़ीपूर्ण लेन-देन किया। इसके आधार पर इन ग्राहकों को अन्य बैंकों ने विदेशों में पैसा उपलब्ध करा दिया। इस मामले में पंजाब नेशनल बैंक ने अपने 10 अफसरों को सस्पेंड कर दिया है।

उल्‍लेखनीय है कि नीरव मोदी के हीरे जड़ित आभूषण विश्वभर की सेलेब्रिटीज में लोकप्रिय हैं। उनके खिलाफ सीबीआई नई एफआईआर दर्ज कर सकती है। सीबीआई अफसरों ने बताया कि मंगलवार को पीएनबी की ओर से दो शिकायतें मिलीं। इनमें 11,400 करोड़ रुपए (1.77 अरब डॉलर) के धोखाधड़ीपूर्ण लेन-देन का आरोप है। राजीव कुमार ने कहा लगता है यह इकलौता ऐसा केस है, इसका असर अन्य बैंकों पर होने के आसार नहीं हैं। मंत्रालय ने त्वरित कदम उठाते हुए सीबीआई व ईडी को केस सौंप दिया है, ताकि त्वरित कार्रवाई हो सके।

दूसरे बैंकों पर पड़ेगा असर

पीएनबी ने अपनी शिकायत में दूसरे बैंकों के नामों का उल्लेख नहीं किया है, लेकिन यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और एक्सिस बैंक ने इन ग्राहकों को पीएनबी द्वारा जारी लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग्स (एलओयू) के आधार पर क्रेडिट मुहैया करा दी। एलओयू एक बैंक शाखा द्वारा दूसरी बैंक की शाखा को जारी किया जाता है। इसके दम पर विदेशी शाखाएं खरीदार को क्रेडिट की सुविधा उपलब्ध करा देती हैं। इस मामले में विदेशों में स्थित बैंक शाखाएं भी जांच के घेरे में आ सकती हैं।

गीताजंलि, गिन्नी व नक्षत्र ज्वेलर्स भी जांच के घेरे में

नीरव मोदी के अलावा इस मामले में तीन अन्य ज्वेलर्स – गीताजंलि, गिन्नी और नक्षत्र भी सीबीआई व ईडी की जांच के घेरे में आ गए हैं। सरकारी बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन ज्वेलरों ने विभिन्न बैंकों से तालमेल कर पैसों का लेन-देन किया है। हालांकि इन कंपनियों की ओर से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।  (एजेंसी)

Related Post

पहली बार महिला वकील को सीधे सुप्रीम कोर्ट में जज बनाने की सिफारिश

Posted by - January 11, 2018 0
उत्तराखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश केएम जोसेफ भी बनेंगे सुप्रीम कोर्ट के जज नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने वरिष्ठ…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *