मुआवजे के सवाल पर अंकित की शोकसभा से उठकर चले गए केजरीवाल

22 0
  • आप विधायक कपिल मिश्रा ने लगाया अंकित के परिवार वालों का अपमान करने का आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली के ख्याला में अंकित की तेरहवीं पर शोकसभा में आए मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल कार्यक्रम को बीच में ही छोड़कर चले गए। उनके जाते ही इस मामले को लेकर सियासत तेज हो गई है। आप से निष्कासित नेता कपिल मिश्रा ने मंगलवार को ट्विटर पर इसका एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें अंकित के पिता पीछे से केजरीवाल को पुकारते रहे और अंत में उन्हें कहना पड़ा कि ‘मेरे साथ गेम मत खेलो’।

विधायक कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर अंकित की शोकसभा में उसके परिवार वालों का अपमान करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के सीएम धर्म देखकर मुआवजे की कीमत लगाते हैं। बता दें कि 1 फरवरी को अंकित की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। आरोप उसकी प्रेमिका के परिवार वालों पर लगा है। इसके बाद बीजेपी ने अंकित के परिवार वालों को 1 करोड़ रुपए का मुआवजा देने की मांग की थी।

12 फरवरी को अंकित की तेरहवीं पर शोकसभा आयोजित की गई थी। दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई प्रमुख दलों के नेतागण इस कार्यक्रम में शामिल हुए। केजरीवाल को देख यहां जुटे लोगों ने एक करोड़ मुआवजे की मांग रखी। इन लोगों ने दिल्ली सरकार द्वारा अंकित सक्सेना के परिजनों के लिए जिस रकम की घोषणा की गई है, उसे लेकर भी विरोध जताया। मुआवजे की चर्चा के बीच अरविंद केजरीवाल प्रार्थनासभा बीच में ही छोड़कर चले गए। इसके बाद विपक्षी पार्टियों को मानो सुनहरा मौका मिल गया। प्रार्थना सभा में मौजूद भाजपा नेता व सांसद  मनोज तिवारी ने भी केजरीवाल सरकार को आड़े हाथों लिया।

क्या है वीडियो में?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अंकित सक्सेना की शोकसभा में उनके परिजनों से मिलने पहुंचे हैं। वे परिवार वालों से बात करते हैं। तभी अंकित के परिवार का एक सदस्‍य उनसे मुआवजे की मांग करता है। मांग सुनते ही केजरीवाल उठकर खड़े हो जाते हैं और कहते हैं – ‘वे यहां राशि को लेकर कोई विवाद नहीं चाहते।’ परिजन अपनी बात कहते रहते हैं, लेकिन सीएम केजरीवाल बिना जवाब दिए शोकसभा से उठ कर चले जाते है। वीडियो में एक शख्स पीछे से ‘केजरीवाल जी सुनिए…केजरीवाल जी सुनिए’ कहता हुआ सुनाई देता है। कपिल का दावा है कि यह शख्स अंकित के पिता हैं।  (एजेंसी)

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *