ओएनजीसी के 46 साल पुराने जहाज में ब्लास्ट, 5 की मौत

64 0
  • हादसे में 10 से ज्यादा जख्मी, एक महीने पहले कोचीन शिपयार्ड में मरम्‍मत के लिए लाया गया था

कोच्चि ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन (ओएनजीसी) के कोचीन शिपयार्ड में मौजूद एक जहाज में मंगलवार को विस्फोट हो गया। इसके बाद उसमें आग लग गई। हादसे में कम से कम 5 लोगों की मौत हो गई और 10 से ज्यादा जख्मी हुए हैं। आग पर काबू पा लिया गया है। बताया जा रहा है कि सागर भूषण नाम का यह जहाज 46 साल पुराना है। इसे करीब एक महीने पहले शिपयार्ड में मरम्मत के लिए लाया गया था।

20 वर्कर थे शिप में

कोच्चि के पुलिस कमिश्नर एमपी दिनेश ने मीडिया को बताया कि यह ब्लास्ट मंगलवार सुबह करीब 11 बजे हुआ। हादसे के वक्त जहाज में करीब 20 लोग काम कर रहे थे। मारे गए और जख्मी हुए लोगों में ज्यादातर डेली लेबर और वर्कर थे। उन्होंने कहा कि आग की वजह से जहाज में धुआं भर गया। कुछ लोगों की मौत दम घुटने से हुई। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

वॉटर टैंक में हुआ ब्लास्ट

शुरुआती खबरों में बताया गया है कि जहाज के वॉटर टैंक में ब्लास्ट हुआ। मारे गए लोगों में 2 केरल के बताए जा रहे हैं। कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड के प्रवक्‍ता ने बताया कि आग लगने के बाद दो शख्स शिप में फंस गए थे, जिन्हें मौके पर पहुंची रेस्‍क्‍यू टीम ने बाहर निकाल लिया है। जख्मी हुए सभी लोगों को स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है।

केंद्रीय रोड और ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गडकरी ने इस हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति शोक जताया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने कोचीन शिपयार्ड के मैनेजिंग डायरेक्टर से बात की है। जख्मी लोगों को सभी मेडिकल सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं। गडकरी ने इस हादसे की संबंधित एजेंसी से जांच कराने का भी आदेश दिया है।   (एजेंसी)

Related Post

नेपाल में भारतीय दूतावास के बाहर बम ब्लास्ट के दो आरोपी गिरफ्तार

Posted by - April 23, 2018 0
सीसीटीवी कैमरा फुटेज के सहारे मिली कामयाबी, दोनों ही आरोपी विप्लव माओवादी गुट के नेपाल के विराटनगर के एसपी ने…

पत्रकार विनोद वर्मा गिरफ्तार, वसूली व धमकी देने का केस दर्ज

Posted by - October 27, 2017 0
गाजियाबाद से हुई गिरफ्तारी, छत्‍तीसगढ़ के सीडी कांड में बताई जा रही उनकी भूमिका गाजियाबाद: गाजियाबाद के इंदिरापुरम से वरिष्ठ पत्रकार विनोद…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *