अब चीफ जस्टिस की बेंच ही सुनेगी सभी जनहित याचिकाएं

28 0
  • तमाम विवादों के बाद सुप्रीम कोर्ट में न्‍यायाधीशों के लिए नया रोस्टर सिस्‍टम जारी

नई दिल्‍ली। तमाम विवादों के बाद सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों के लिए नया रोस्टर सिस्टम जारी कर दिया गया है। नए रोस्टर के तहत सर्वोच्च अदालत में आने वाली सभी जनहित याचिकाओं पर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की बेंच ही सुनवाई करेगी। इस रोस्टर को सुप्रीम कोर्ट प्रशासन पर सवाल उठाने वाले चार जजों को झटके के रूप में भी देखा जा रहा है।

नए रोस्टर के तहत चीफ जस्टिस के अलावा कोई भी बेंच जनहित याचिकाएं नहीं सुन पाएगी। ये रोस्टर 5 फरवरी से लागू होगा। हालांकि, पुराने किसी मामले में इस रोस्टर के तहत सुनवाई नहीं होगी, यानी अब जो नई याचिकाएं आएंगी, उनकी सुनवाई ही इस नए रोस्टर के तहत होगी। यानी अब सभी नई जनहित याचिकाओं पर चीफ जस्टिस की बेंच ही सुनवाई करेगी।

नए रोस्‍टर के तहत याचिकाओं का बंटवारा

  • ये नया रोस्टर केस की श्रेणी के हिसाब से बनाया गया है। इसके मुताबिक जनहित याचिका, चुनाव संबंधी याचिका, कोर्ट की अवमानना से संबंधित याचिका, सामाजिक न्याय, आपराधिक मामले सहित अन्य मामलों से जुड़ी याचिकाओं पर चीफ जस्टिस की बेंच में सुनवाई होगी।
  • सुप्रीम कोर्ट में दूसरे नंबर के जज जस्टिस जे. चलमेश्वर के पास आपराधिक, श्रम, टैक्स, भूमि अधिग्रहण, सिविल, सामान्य पैसों के मामले, न्यायिक अधिकारियों से जुड़े मामले, भूमि अधिनियम संबंधी मामले और समुद्री कानून जैसे केस से जुड़ी याचिकाएं आएंगी।
  • तीसरे नंबर के जज जस्टिस रंजन गोगोई के पास कोर्ट की अवमानना, धार्मिक मामले, पर्सनल लॉ, बैंकिंग, सरकारी ठेके, आपराधिक, श्रम, टैक्स, भूमि अधिग्रहण, सिविल, सामान्य पैसों के मामले, न्यायिक अधिकारियों से जुड़े मामले, भूमि अधिनियम संबंधी मामले, समुद्री कानून जैसे मामले आएंगे।
  • चौथे नंबर के जज जस्टिस मदन बी. लोकुर के पास वन संरक्षण मामले, भूमि, जल, पेड़, पैरा-मिलिट्री फोर्स, सेना और धार्मिक मामले हैं।
  • पांचवें नंबर के जज जस्टिस कुरियन के पास श्रम, रेंट एक्ट, फैमिली लॉ, पर्सनल लॉ और धार्मिक मामले होंगे।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के चार जज जस्टिस जे. चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सुप्रीम कोर्ट प्रशासन पर सवाल उठाए थे और रोस्टर को लेकर भी गंभीर आरोप लगाए थे। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट जजों के बीच काफी खींचतान देखने को मिली थी। अब कोर्ट का नया रोस्टर जारी कर दिया गया है, जिसमें केस की श्रेणी के हिसाब से अलग-अलग जजों की बेंच के पास सुनवाई के लिए याचिकाएं भेजी जाएंगी।

Read More : https://aajtak.intoday.in/story/supreme-court-new-roster-chief-justice-pil-justice-chelameshwar-1-981518.html

Related Post

मच्छरों से फैलने वाले वायरस इन महत्वपूर्ण अंगों पर भी करते हैं हमला

Posted by - October 9, 2018 0
मिसौरी। यहां के वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में हुई ताजा रिसर्च में पता चला है कि मच्छरों से फैलने…

जानिए, कर्नाटक चुनावों से पहले मठों-मंदिरों के चक्कर क्यों काट रहे राहुल और शाह

Posted by - April 4, 2018 0
बेंगलुरू। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बीच आजकल अनोखी जंग छिड़ी हुई है। ये जंग…

बुक माय शो और पीवीआर पिक्चर्स ने वकाओ के लिए किया गठजोड़

Posted by - November 17, 2017 0
सिनेमाघरों में क्यूरेटेड और ऑन-डिमांड कंटेंट दिखाने के लिए हुआ यह नया रणनीतिक अनुबंध इस नई साझेदारी के जरिये थियेटर…

हेल्पएज इंडिया रिपोर्ट : देश का हर चौथा बुज़ुर्ग दुर्व्यवहार का शिकार

Posted by - June 16, 2018 0
बुजुर्गों का उत्पीड़न करने के मामले में बहुओं से बहुत ज्यादा आगे हैं बेटे, मैंगलोर सबसे आगे नई दिल्ली। दुनियाभर में बुजुर्गों…

अब न्यू कैलेडोनिया के पूर्वी भाग में 7.3 तीव्रता का भूकंप

Posted by - November 20, 2017 0
सिडनी: न्यू कालेडोनिया के पूर्वी भाग में आज 7.3 तीव्रता का तेज भूकंप आया. यह देश प्रशांत क्षेत्र के टेक्नोनिक रूप से सक्रिय…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *