काबुल हमले के बाद अमेरिका सख्त, कहा – तालिबान की सभी पनाहगाहें खत्म करेंगे

73 0
  • विदेश मंत्री टिलरसन का आह्वान – दुनिया में अमन चाहने वाले देश साथ आएं

वॉशिंगटनअफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार को बम धमाके में 100 लोगों के मारे जाने के बाद अमेरिका ने सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है। खास बात ये है कि अमेरिका ने इस बार दुनिया के उन देशों से भी मदद मांगी है, जो दुनिया में अमन चाहते हैं। अमेरिका ने कहा, ‘तालिबान ने काबुल में हमला कर 100 बेकसूर लोगों की जान ले ली। हम दुनिया से अपील करते हैं कि वो हमारा साथ दे। तालिबान की जहां भी पनाहगाह मौजूद हैं, उन्हें अमेरिका खत्म करेगा।’

बता दें कि बिना नाम लिए अमेरिका ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है, क्योंकि तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के नेता पाक में ही मौजूद हैं। अमेरिका-पाकिस्तान के बीच तनाव की भी यही वजह है। काबुल में ब्लास्ट के बाद अमेरिका के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन खुद मीडिया के सामने आए। आमतौर पर इस तरह के बयान व्हाइट हाउस या पेंटागन की तरफ से ही जारी किए जाते रहे हैं। टिलरसन ने कहा, ‘जितने भी देश अफगानिस्तान और बाकी दुनिया में अमन चाहते हैं, उन्हें अब साथ आना होगा। हम ये अपील भी करते हैं। अब ये जरूरी हो गया है कि तालिबान जैसे आतंकी संगठन के खिलाफ आखिरी जंग शुरू हो।’ टिलरसन ने आगे कहा- इन आतंकियों की जहां भी पनाहगाहें मौजूद हैं, उन्हें खत्म किया जाएगा।

नजर पाकिस्तान पर

टिलरसन का बयान साफतौर पर पाकिस्तान के लिए वॉर्निंग है। अमेरिका और अफगानिस्तान आरोप लगाते रहे हैं कि तालिबान के तमाम बड़े नेता पाकिस्तान में मौजूद हैं। यहां उनकी पनाहगाहें हैं, लेकिन पाकिस्तान आर्मी इन नेताओं को बचाती आई है। ये अमेरिका को ब्लैकमेल करने की साजिश है। अमेरिका ने हाल ही में पाकिस्तान में ड्रोन हमले किए हैं। माना जा रहा है कि अमेरिका अब पाकिस्तान में इस तरह के हमले ज्यादा करेगा।

Read More : https://www.bhaskar.com/world-news-in-hindi/news/INT-HDLN-us-seeks-decisive-action-against-taliban-after-afghan-attack-5800443-PHO.html?ref=ht

Related Post

दक्षिण अफ्रीका के इंजीनियरिंग छात्रों का कारनामा, इंसान के पेशाब से बनाई ईंट

Posted by - October 27, 2018 0
नई दिल्‍ली। इंजीनियरिंग के कुछ छात्रों ने पर्यावरण को ध्‍यान में रखते हुए एक अनोखा प्रयोग किया है। दरअसल, इन…

STUDY: दिल्ली समेत प्रदूषित शहरों के लोगों की जिंदगी के 10 साल हुए कम

Posted by - November 20, 2018 0
नई दिल्ली। अमेरिका की शिकागो यूनिवर्सिटी के मिल्टन फ्राइडमैन संस्थान ने दिल्ली समेत भारत में वायु प्रदूषण का सामना कर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *