कासगंज में फिर भड़की हिंसा, उपद्रवियों ने दो बसों और दुकानों में लगाई आग

103 0
  • मृत युवक के अंतिम संस्कार के बाद हिंसा पर उतारू हुई भीड़

कासगंज यूपी के कासगंज में शुक्रवार को दो गुटों में हुई झड़प ने हिंसक मोड़ ले लिया है। शुक्रवार की घटना के मद्दनेजर शनिवार को भी हिंसा भड़क उठी। मृत युवक के अंतिम संस्कार के बाद लोगों का बड़ा समूह हिंसा पर उतारू हो गया। एक समूह ने जहां शहर के मेन मार्केट के कुछ दुकानों में आग लगा दी, वहीं दूसरे समूह ने कुछ दूरी पर स्थित दुकानों में तोड़-फोड़ की और दो बसों को आग के हवाले कर दिया।

उपद्रवियों ने शनिवार को कासगंज में कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया

बता दें कि 26 जनवरी को विहिप और एबीवीपी कार्यकर्ताओं द्वारा निकाली जा रही  तिरंगा रैली पर पथराव के बाद हिंसा भड़क उठी थी, जिसमें हुई दोतरफा फायरिंग में 22 साल के चंदन गुप्ता की मौत हो गई थी। इस संघर्ष में नौशाद नाम का एक व्यक्ति  भी घायल हो गया, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि हिंसा के सिलसिले में अबतक नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है और बाकियों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

शनिवार सुबह कासगंज में धारा 144 की धज्जियां उड़ती नजर आईं। युवकों ने मुख्य चौराहे पर जमकर नारेबाजी की। भारी तादाद में युवक चौराहे पर इकट्ठा थे। इस दौरान पुलिस-प्रशासन मूक दर्शक बना रहा। शनिवार को शहर में आगजनी और तोड़फोड़ की छुटपुट घटनाएं हुईं। युवक की मौत से नाराज लोग इस कदर बेकाबू हो गए थे कि भीड़ ने सड़क किनारे खड़ी बसों और दुकानों को आग लगा दी। आगजनी में एक बस और दुकान जल कर राख हो गई। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने आग बुझाई। माहौल शांत होता न देख कासगंज के डीएम और एसपी भी मौके पर पहुंचे। पुलिस के मुताबिक, कासगंज थाने में शिकायत दर्ज कर ली गई है और घटना में शामिल नौ लोग अब तक गिरफ्तार किए गए हैं।  (एजेंसी)

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *