करजई बोले – पाक के खिलाफ सिर्फ बोलें नहीं, एक्शन भी लें ट्रंप

27 0
  • जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में अफगान नेता ने हिंदी फिल्मों, संगीत से लगाव पर भी कीं बातें

जयपुर। पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका के कड़े रुख का अफगानिस्तान ने समर्थन करते हुए टिप्पणी की है। अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ने उम्‍मीद जताई है कि आतंकवाद से निपटने में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पाकिस्तान के खिलाफ अपनी कही गई बात पर अमल करेंगे।

यहां चल रहे जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (जेएलएफ) में अफगान नेता ने हिंदी फिल्मों, संगीत और भारतीय संस्कृति के प्रति अपने लगाव पर भी बातें कीं। करजई ने कहा कि अगर कोई उनकी जिंदगी पर फिल्म बनाने की सोच रहा है तो उनके किरदार के लिए अभिनेता नसीरुद्दीन शाह सबसे सही होंगे। ‘अमेरिका विरोधी’ कहे जाने के संबंध में एक सवाल के जवाब में करजई ने कहा कि वह अफगानिस्तान को तबाह करने वाले आतंकवाद से निपटने के अमेरिका के तरीके के वाकई खिलाफ थे।

करजई को 2001 में अफगानिस्तान का अंतरिम नेता बनाया गया था और वह तालिबान के पतन के बाद 2004 में जनता द्वारा निर्वाचित राष्ट्रपति बने थे। ट्रंप के हालिया बयानों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘यह ट्रंप के कुछ समझदारी वाले फैसलों में से एक है। हम पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद के इस्तेमाल को लेकर राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा दिए गए बयान का समर्थन करते हैं और उम्मीद करते हैं कि वे कार्रवाई करेंगे और इस बार कही हुई बात पर अमल करेंगे।’ बता दें कि पाकिस्तान पर तीखा हमला बोलते हुए ट्रंप ने उस पर झूठ बोलने और आतंकियों को शरण देकर अमेरिकी नेताओं को बेवकूफ बनाने की कोशिश करने का आरोप लगाया था।

फिल्म और साहित्य के संबंध में बातचीत में करजई ने कहा कि वह अभिनेता देव आनंद, हेमा मालिनी, जीनत अमान, मोहम्मद रफी और मुकेश के बारे में यहां समारोह में मौजूद अधिकतर लोगों की तुलना में संभवत: ज्यादा बातचीत कर सकते हैं। करजई ने बताया कि उन्होंने कालिदास और रवींद्रनाथ टैगोर को पढ़ा है तथा दिल्ली के खान मार्केट में घूमते हुए मिर्जा गालिब की रचनाओं पर किताबें खरीदी हैं।  (एजेंसी)

Related Post

राजस्थान के करौली में हिंसा भड़की, दलित विधायक-पूर्व एमएलसी के घर फूंके

Posted by - April 3, 2018 0
जयपुर। एससी/एसटी एक्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ सोमवार को हुए भारत बंद में हिंसा भड़की थी।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *