गोरखपुर में ऑटो चालक ने पेश की ईमानदारी की अनूठी मिसाल

46 0
  • ब्रिटिश नागरिक मार्क एडवर्ड को उनका पासपोर्ट, 1250 डॉलर, बियरर चेक और जरूरी सामान लौटाया

गोरखपुर। सामाजिक बुराइयों और इसके प्रति चिंतित समाज में कभी-कभी ऐसी खबरें आती हैं, जो लोगों को बहुत सुकून पहुंचाती हैं। मंगलवार को गोरखपुर शहर में एक ऑटो वाले ने कुछ ऐसी ही मिसाल पेश की कि हर कोई कह उठा कि ऐसे लोगों के बल पर ही समाज से अच्छाई कभी खत्म नहीं हो सकती।

करीब एक हफ्ते पहले की बात है, ब्रिटिश नागरिक मार्क एडवर्ड जॉनसन  गोरखपुर आए हुए थे। भारत देश की महानता एवं विविधता से प्रभावित मार्क शहर के एक प्रसिद्ध होटल में ठहरे थे। 16 जनवरी को उन्‍होंने शहर घूमने के लिए ऑटो रिक्शा किया। यात्रा के दौरान उनका पासपोर्ट, 1250 डॉलर, बियरर चेक सहित कुछ जरूरी सामान कहीं छूट गया। मार्क जब वापस होटल लौटे तो पासपोर्ट नहीं पाकर परेशान हो उठे। उन्होंने इसकी सूचना कैंट थाने को दी। पुलिस ने रपट दर्ज कर ली।

मार्क एडवर्ड जॉनसन को उनका सामान लौटाते ऑटो चालक राजेंद्र

उधर, दूसरे दिन चौरीचौरा के रामपुर बुजुर्ग के रहने वाले ऑटो चालक राजेंद्र चौरसिया अपने ऑटो की धुलाई कर रहे थे। ऑटो में उनको कुछ कागजात और विदेशी मुद्रा मिली। विदेशी मुद्रा देखते ही राजेंद्र को समझते देर न लगी कि यह विदेशी नागरिक मार्क एडवर्ड जानसन का ही धन होगा। वह ऑटो लेकर होटल क्लार्क इन पहुंचे, जहां से ब्रिटिश नागरिक मार्क को लेकर गए थे। लेकिन वहां पता चला कि मार्क होटल छोड़ चुके हैं। फिर होटल के ही किसी कर्मचारी के कहने पर ऑटो चालक राजेंद्र ने एलआईयू से संपर्क किया। एलआईयू ने मार्क का पता लगाना शुरू किया तो मार्क के शहर छोड़ने की बात सामने आई।

एलआईयू के एसआई जेएन सिंह ने बताया कि काफी प्रयास के बाद मार्क के नंबर से संपर्क हो सका। मार्क एडवर्ड को उनके खोए डॉलर और पासपोर्ट मिलने की सूचना दी गई। पासपोर्ट मिलने की खबर से एडवर्ड की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मार्क ने बताया कि वह दिल्ली पहुंच चुके हैं। अपने सामान मिलने से खुश मार्क ने मंगलवार को गोरखपुर आने की बात कही।

मंगलवार को मार्क गोरखपुर पहुंचे। उन्होंने एलआईयू आफिस में संपर्क किया। वहां अभिसूचना विभाग के अधिकारियों ने ऑटो चालक राजेंद्र को बुलवाकर उनके हाथों से ही मार्क एडवर्ड के उनके सामान दिलवाए। खोया सामान मिलने के बाद एडवर्ड थैंक्स बोलते नहीं थक रहे थे। इसके बाद वह नेपाल के लिए रवाना हो गए।

Related Post

‘गिविंग प्‍लेज’ से जुड़े नीलेकणि दंपति, आधी संपत्ति करेंगे दान

Posted by - November 21, 2017 0
नई दिल्ली: इंफोसिस के नॉन एक्जीक्यूटिव चेयरमैन नंदन नीलेकणि और उनकी पत्नी रोहिणी नीलेकणि अपनी आधी संपत्ति दान करेंगे. दरअसल, नीलेकणि…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *