शिवसेना अकेले लड़ेगी 2019 का लोकसभा-विधानसभा चुनाव

47 0
  • मुंबई में शिवसेना की कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान

मुंबईशिवसेना ने पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक के बाद यह फैसला किया कि वह 2019 में अकेले अपने दम पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी। पार्टी ने साफ किया कि अगला विधानसभा चुनाव भी पार्टी अकेले ही लड़ेगी। पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक के दौरान पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने फैसला किया है कि राज्य में पार्टी अपने दम पर आगे चुनाव लड़ेगी और राज्य के बाहर भी हिंदुत्व के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि पार्टी की हार होती है या जीत यह जरूरी नहीं,  पार्टी की विचारधारा जरूरी है। कार्यकारिणी की बैठक में उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने जो विश्वास उनपर और पार्टी पर जताया है, वह उसके लिए आभारी हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी से अलग चुनाव लड़ने का फैसला काफी विचार करने के बाद लिया गया है। ठाकरे ने कहा कि अगर सरदार वल्लभ पटेल पीएम होते तो कश्मीर का मुद्दा न बनता और मराठवाड़ा भी आजाद नहीं हो पाता। उन्होंने कहा कि चुनाव आते ही कई दलों को पाकिस्तान की याद आ जाती है।

शिवसेना प्रमुख ठाकरे ने कहा कि रोज सैनिकों की मौत हो रही है, कुर्बानी याद की जाती है, फिर हम सब भूल जाते हैं। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय लेने की गैरजरूरी कोशिश हो रही है, ये सेना का गौरव है। उन्होंने पीएम मोदी के  56 इंच की छाती वाले बयान पर तंज कसा और कहा कि छाती से कुछ नहीं होता, उसमें हिम्मत कितनी है, गौरव कितना है, यह अहम है। ठाकरे ने जम्‍मू-कश्‍मीर में सरकार के लिए गठबंधन को लेकर भी सवाल उठाए और कहा कि जो आतंकवाद को बढ़ा रहे हैं, उनके साथ हम नहीं रह सकते।

क्या है महाराष्ट्र में दलगत स्थिति
बता दें कि राज्य में अभी बीजेपी और शिवसेना की गठबंधन सरकार है। बीजेपी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी है और पिछला चुनाव शिवसेना और बीजेपी ने अकेले अकेले ही लड़ा था। चुनाव परिणामों के बाद सत्ता समीकरण के चलते दोनों दलों में  गठबंधन हुआ था और बीजेपी के नेतृत्व में सरकार बनी थी। महाराष्‍ट्र विधानसभा की स्थिति के अनुसार भाजपा+ सहयोगी – 122+ 1,  शिवसेना – 63, कांग्रेस – 42, एनसीपी – 41, एआईएमआईएम – 2  है। महाराष्‍ट्र में लोकसभा की स्थिति कुल – 48, भाजपा – 23, शिवसेना – 18 , कांग्रेस – 2 , एनसीपी – 4, स्‍वाभिमानी पार्टी – 1 है।

Related Post

सीएम योगी की बड़ी कार्रवाई, पीडब्‍लूडी में 250 से अधिक को वीआरएस

Posted by - October 30, 2017 0
लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद से लगातार एक्शन में रहने वाले योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार…

महत्वपूर्ण फैसलों का सुप्रीम कोर्ट से होगा सीधा प्रसारण, AG से मांगे सुझाव

Posted by - July 9, 2018 0
राज्यसभा और लोकसभा चैनल की तरह अलग से एक चैनल शुरू करेगी केंद्र सरकार  नई दिल्ली। लोकसभा और राज्‍यसभा की कार्यवाही…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *