परमाणु क्षमता से लैस अग्नि-5 मिसाइल का सफल परीक्षण

93 0
  • चीन के सुदूर उत्तरी हिस्से का विनाश करने में सक्षम है यह आईसीबीएम मिसाइल

भुवनेश्वर। भारत ने एक और कामयाबी हासिल करते हुए गुरुवार को ओडिसा के तट से अग्नि-5  मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। ओडिसा के अब्दुल कलाम द्वीप से अग्नि-5 मिसाइल को लॉन्च किया गया। परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इस इंटर कॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल (ICBM) की मारक क्षमता 5 हजार किलोमीटर की है। यह मिसाइल चीन के सुदूर उत्तरी प्रांतों पर भी हमला करने में सक्षम है।

अग्नि-5 मिसाइल के परीक्षण के साथ ही भारत ने अपनी मारक क्षमता और मजबूत करने का संदेश पूरी दुनिया को दे दिया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘हमने अग्नि-5 का सफलता पूर्वक परीक्षण किया है। अग्नि-5  मिसाइल के सफल परीक्षण से भारत कई हथियार ले जाने में और मजबूत हो गया है। एंटी बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम के खिलाफ भी यह काम करेगा। इस मिसाइल की जद में पूरा चीन और पाकिस्तान है। अगर पड़ोसी देश के मिसाइल से इसकी तुलना करें, तो चीन के पास DF31A मिसाइल है जिसकी मारक क्षमता 11,200 किमी है, वहीं पाकिस्तान के पास शाहीन है जिसकी मारक क्षमता 2500 किमी है।

अग्नि-5 मिसाइल की खासियत

अग्नि-5 मिसाइल को डीआरडीओ ने तैयार किया है। स्वदेश में विकसित सतह से सतह तक मार करने में सक्षम अग्नि-5 मिसाइल 5000 किलोमीटर से अधिक दूरी तक के लक्ष्य को भेदने में सक्षम है। यह 17 मीटर लंबी, दो मीटर चौड़ी है और इसका प्रक्षेपण भार तकरीबन 50 टन है। यह एक टन से अधिक वजन के परमाणु हथियार को ढोने में सक्षम है। अग्नि शृंखला की अन्य मिसाइलों के विपरीत ‘अग्नि-5’ सर्वाधिक आधुनिक मिसाइल है। नैविगेशन और मार्गदर्शन के मामले में इसमें कुछ नई प्रौद्योगिकियों को शामिल किया गया है।

Related Post

लैंडिंग के वक्त फिसला विमान, रनवे की जगह समंदर में जा घुसा, बाल-बाल बचे 47 यात्री

Posted by - September 28, 2018 0
वेलिंगटन। न्यूजीलैंड के माइक्रोनेशियन द्वीप पर हुए एक हादसे में 47 लोगों की जान बाल-बाल बच गई। दरअसल, पापुआ न्‍यूगिनी…

वैज्ञानिकों से ज्यादा ज्ञानी दिखे अमेरिकी जज, कहा- कॉफी से हो सकता है कैंसर

Posted by - March 30, 2018 0
लॉस एंजेलेस। वैज्ञानिक भले तमाम शोध के बाद कॉफी को स्वास्थ्य के लिए बेहतर बता चुके हों। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *