एयरसेल-मैक्सिस डील : कार्ति चिदंबरम के 5 ठिकानों पर ईडी के छापे

45 0

नई दिल्ली पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों ने शनिवार तड़के छापेमारी की। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, आईएनएक्स मीडिया मामले से जुड़ी कथित अनिमितताओं के सिलसिले में अधिकारियों ने दिल्ली और चेन्नई में पांच जगहों पर छापेमारी की। इनमें से एक ठिकाना दिल्ली के जंगपुरा में, जबकि चार अन्य चेन्नई में हैं।

प्रवर्तन निदेशालय के पांच अधिकारी सुबह साढ़े सात बजे चिदंबरम के घर पहुंचे। ईडी अधिकारी करीब साढ़े तीन घंटे तक छानबीन करने के बाद सुबह 11 बजे वहां से निकले। इस दौरान उन्होंने वहां मौजूद मीडिया के सवालों के जवाब नहीं दिए। ईडी अधिकारियों के छापे के दौरान चिदंबरम या उनके बेटे कार्ति चेन्नई स्थित अपने घर पर नहीं थे। वहीं छापेमारी के बाद चिदंबरम के वकील ने कहा कि ईडी अधिकारियों को छापे में कुछ भी नहीं मिला।

बता दें कि इससे पहले ईडी ने साल 2007 के आईएनएक्स मीडिया को दी गई एफआईपीबी मंजूरी में कथित तौर पर अनियमितता से जुड़े धनशोधन के मामले में समन जारी किया था। ईडी ने कार्ति चिदंबरम के खिलाफ मई, 2017 में धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) का मामला दर्ज किया था।

कार्ति पर लगा है यह आरोप
कार्ति 2007 में आईएनएक्स मीडिया लिमिटेड को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी आसान बनाने में अपनी भूमिका को लेकर जांच का सामना कर रहे हैं। उस दौरान उनके पिता पी. चिदंबरम केंद्रीय वित्तमंत्री थे। कार्ति पर एफआईपीबी की मंजूरी दिलाने में सहायता के लिए कथित तौर पर मुबंई की आईएनएक्स मीडिया (अब 9एक्स मीडिया) से 3.5 करोड़ रुपए प्राप्त करने का आरोप है। उस दौरान आईएनक्स के संचालक पीटर व इंद्राणी मुखर्जी थे।

Read More : http://www.punjabkesari.in/business/news/ed-raids-on-karti-chidambaram-places-in-inx-media-case-737658

Related Post

सूरत से पकड़े गए आतंकियों पर सियासी जंग, रुपाणी ने मांगा अहमद पटेल का इस्तीफा

Posted by - October 27, 2017 0
गुजरात के सीएम बोले – जिस अस्‍पताल से एक आतंकी पकड़ा गया, अहमद पटेल उसके ट्रस्‍टी हैं सूरत। सूरत से पकड़े…

सीआईए ने जारी किए ओसामा बिन लादेन से जुड़े हजारों दस्‍तावेज

Posted by - November 2, 2017 0
वाशिंगटन । अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए द्वारा आतंकी संगठन अलकायदा से जुड़े हजारों दस्‍तावेज जारी किए गए हैं। इसमें दुनिया के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *