104 सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजने वाले सिवन इसरो के नए चेयरमैन

44 0
  • 14 जनवरी को निवर्तमान अध्‍यक्ष एएस किरन के सेवानिवृत्‍त होने पर लेंगे उनकी जगह

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार ने मशहूर वैज्ञानिक के. सिवन को इंडियन स्‍पेस रिसर्च आर्गनाइजेशन (इसरो) का नया चेयरमैन नियुक्त किया है। कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने बुधवार को सिवन के नाम को मंजूरी दे दी। वह निवर्तमान अध्‍यक्ष एएस किरन की जगह लेंगे। किरन का कार्यकाल 14 जनवरी को पूरा होने जा रहा है।

सिवन इससे पहले 104 सैटेलाइट को एक साथ अंतरिक्ष में भेजने में इसरो की मदद कर चुके हैं। कार्मिक मंत्रालय के मुताबिक, सिवन को तीन साल के लिए डिपार्टमेंट ऑफ स्पेस का सेक्रेटरी और स्पेस कमीशन का चेयरमैन बनाया गया है। सिवन इस समय विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर के निदेशक हैं। उन्होंने 1980 में मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया था। इसके बाद उन्होंने 1982 में IISc बेंगलुरु से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में परास्नातक किया। उन्होंने 2006 में IIT बॉम्बे से पीएचडी की।

सिवन ने 1982 में इसरो का पीएसएलवी प्रोजेक्ट जॉइन किया था। अंतरिक्ष परिवहन प्रणाली के इंजीनियरिंग सिस्‍टम में उनके पास 30 वर्षों का व्‍यापक अनुभव है। यह सिवन की विशेषता थी कि इसरो को एक ही मिशन में 104 उपग्रह भेजने की क्षमता प्रदान की। इसकी बदौलत पिछले साल फरवरी में भारत ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। सैटेलाइट को कक्षा में भेजने के लिए जितने लोग तकनीक पर काम कर रहे थे, उनमें के. सिवन प्रमुख व्यक्ति थे।

वह इंडियन नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग, एयरोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया और सिस्टम्स सोसाइटी ऑफ इंडिया में फैलो हैं। कई जर्नल में उनके पेपर प्रकाशित हुए हैं। उन्हें कई पुरस्कारों से नवाजा गया है। इसमें चेन्नई की सत्यभामा यूनिवर्सिटी से अप्रैल 2014 में मिला डॉक्टर ऑफ साइंस और वर्ष 1999 में मिला श्री हरी ओम आश्रम प्रेरित डॉ विक्रम साराभाई रिसर्च अवॉर्ड शामिल है।

Related Post

पाक सरकार को हाईकोर्ट की फटकार, कहा – सबूत दो वर्ना सईद की नजरबंदी खत्म

Posted by - October 11, 2017 0
कोर्ट में नहीं पहुंचे गृह सचिव, डिप्टी अटार्नी जनरल ने जवाब दाखिल करने के लिए मांगा समय लाहौर। भारत और…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *