हिज्बुल में ‘शामिल’ एएमयू के मन्नान वानी का रूममेट भी लापता

81 0
  • मन्‍नान के हॉस्‍टल के कमरे से किताबें, फोटोकॉपी, पेन ड्राइव समेत संदिग्ध दस्तावेज मिले 

अलीगढ़। जम्मू-कश्मीर के रहने वाले लापता अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र मन्नान वानी का अभी तक अता-पता नहीं है। खुफिया एजेंसियां वानी की तलाश में जुटी हैं। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि मन्नान वानी का रूममेट मुजम्मिल हुसैन भी जुलाई, 2017 से लापता है। मुजम्मिल हुसैन जम्मू-कश्मीर के बारामूला का रहने वाला है। इस बीच पुलिस ने कहा है कि यह कहना अभी जल्दीबाजी होगा कि वानी ने आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन ज्‍वाइन कर लिया है।

सूत्रों के मुताबिक, मन्नान की आखिरी लोकेशन 4 जनवरी को दिल्ली में ट्रेस की गई है। मन्नान के लापता होने से उसका परिवार भी सदमे में है। भाई मुबस्सिर ने कहा कि 3 जनवरी को मन्नान की पिता से बात हुई थी। 4 जनवरी के बाद से उसका फोन स्विच ऑफ जा रहा है। वानी के हिज्बुल में शामिल होने की अटकलों के बीच यूपी एटीएस ने सोमवार को दोनों कश्मीरी छात्रों की जांच शुरू कर दी है। जांच अधिकारियों ने बताया कि हॉस्टल में वानी के रूम से संदेहजनक सामग्री मिली है। उन्होंने बताया कि किताबें, फोटोकॉपी, पेन ड्राइव समेत कुछ ‘संदिग्ध’ दस्तावेज उसके कमरे से मिले हैं।

ये भी पढ़ें – http://the2ishindi.com/?p=13360

हॉस्टल में बांटा था हिज्बुल का कैलेंडर
उधर, जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान ने कहा कि सभी चीजों की जांच की जा रही है और यह कहना अभी जल्दबाजी होगा कि मुनीर हिज्बुल में शामिल हो गया है। हालांकि अलीगढ़ पुलिस की जांच से पता चला है कि वानी ने जनवरी, 2017 में हॉस्टल में हिज्बुल का ‘कैलेंडर’ बांटा था।

अलीगढ़ के एसएसपी राजेश पांडेय ने कहा कि वानी का रूममेट हुसैन पिछले साल जुलाई के बाद से नहीं आया है। हॉस्टल के मेस वाले ने बताया कि मन्नान को 2 जनवरी को अंतिम बार देखा गया था। एएमयू के पीआरओ ने बताया कि मन्नान वानी को विश्वविद्यालय (AMU) ने निष्कासित कर दिया है। साथ ही हबीब हॉल हॉस्टल में उसका कमरा भी सील कर दिया गया है। एएमयू प्रशासन का कहना है कि उसकी आपत्तिजनक गतिविधियों से संस्थान का शांतिपूर्ण माहौल खराब हो सकता था, लिहाजा संस्थान ने उसके निष्कासन की कार्रवाई की है। दो दिन पहले राइफल के साथ वानी की फोटो फेसबुक पर वायरल हो गई, जिसमें कहा गया कि 5 जनवरी को वह हिज्बुल मुजाहिदीन के साथ जुड़ गया था।

Read More : https://navbharattimes.indiatimes.com/state/uttar-pradesh/others/mannan-bashir-wani-roommate-missing-from-amu/articleshow/62423438.cms

Related Post

SC ने कुछ नहीं कहा था, जबरदस्ती सरकार आपके मोबाइल नंबर से जुड़वा रही आधार  

Posted by - April 26, 2018 0
नई दिल्ली। सरकारी तंत्र और मोबाइल कंपनियों ने लगातार कह-कह कर और मैसेज भेज-भेज कर लोगों को अपना मोबाइल नंबर…

महाराष्ट्र के इस गांव में है अनोखा स्कूल, जहां सिर्फ बुजुर्ग महिलाएं ही पढ़ने आती हैं

Posted by - September 24, 2018 0
मुंबई। कहते हैं, पढ़ाई-लिखाई की कोई उम्र नहीं होती है। अगर कुछ सीखने की लगन हो तो उम्र मायने नहीं…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *