शिया वक्फ बोर्ड ने कहा- आतंकी कर रहे मदरसों को फंडिंग

38 0
  • वसीम रिजवी ने पीएम मोदी को लिखा खत, मदरसों को बंद करने की पैरवी
  • रिजवी बोले – मदरसे इंजीनियर, डॉक्‍टर नहीं, बल्कि आतंकी पैदा करते हैं

नई दिल्‍ली। शिया वक्फ बोर्ड ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर मदरसों को खत्म करने की पैरवी की है। उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने पीएम को लिखे खत में कहा है कि मदरसों की शिक्षा मुस्लिम बच्चों को समाज की मुख्यधारा से दूर कर रही है। मदरसों को मिलने वाली फंडिंग पर सवाल उठाते हुए कहा कि इनके पास आतंकी संगठनों से पैसा आ रहा है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने रिजवी को सबसे बड़ा अवसरवादी करार दिया है।

बहुत बड़े अवसरवादी हैं वसीम रिजवी : ओवैसी
वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रिजवी ने पत्र में लिखा कि मदरसों में जो बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं, उनकी शिक्षा का स्तर निचली सतह का है। ऐसे बच्चे सर्वसमाज से दूर होकर कट्टरपंथ की तरफ बढ़ रहे हैं। ऐसे में मदरसों को खत्म करने की जरूरत है और उसकी जगह सामान्य शिक्षा नीति बनाई जानी चाहिए। वहीं, ओवैसी ने कहा, ‘रिजवी बहुत बड़े अवसरवादी हैं। उन्होंने अपनी आत्मा आरएसएस को बेच दी है। मैं रिजवी को चुनौती देता हूं कि वह एक भी ऐसा मदरसा बता दें, जहां इस तरह की पढ़ाई हो रही है।’

यहां से शिक्षित युवाओं को रोजगार का संकट
मदरसों की शिक्षा पद्धति सवाल उठाते खत में शिक्षा वक्फ वोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि यहां से शिक्षा पाकर देश में युवा डॉक्टर, इंजीनियर और आईएएस अफसर तो नहीं बन सके लेकिन मदरसों से आतंकी बनकर जरूर निकले हैं। वसीम रिजवी ने कहा है कि सच तो यह है कि मदरसों में शिक्षित युवा रोजगार के मोर्चे पर फेल साबित होते हैं। खासकर निजी क्षेत्र में जो रोजगार है, वहां मदरसा शिक्षा उनके कोई काम नहीं आती है।

मदरसों को आतंकी संगठन करते हैं फंडिंग
वसीम रिजवी ने पत्र में आगे लिखा कि अधिकतर मदरसे जकात के पैसे से चल रहे हैं, जो बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों से आ रहे हैं। कुछ आतंकवादी संगठन भी अवैध रूप से चल रहे मदरसों को फंडिंग कर रहे हैं। इसके अलावा ज्यादातर मदरसे सऊदी अरब के भेजे पैसे से चल रहे हैं। ऐसे में इसकी जांच की जानी चाहिए।

Read More : http://www.punjabkesari.in/national/news/shia-waqf-board-wrote-letter-to-pm-saying-funding-to-madars-doing-terrorism-735777

Related Post

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा – क्या यमुना एक्सप्रेस-वे जेपी एसोसिएट्स का है?

Posted by - October 24, 2017 0
  165 किलोमीटर लंबे इस एक्‍सप्रेस-वे को 2500 करोड़ रुपये में बेचना चाहता है जेपी एसोसिएट्स नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को…

शोपियां में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, हिज्बुल कमांडर समेत 5 आतंकी ढेर

Posted by - May 6, 2018 0
मारे गए आतंकियों में कश्‍मीर यूनिवर्सिटी में सोशियोलॉजी का असिस्‍टेंट प्रोफेसर मोहम्‍मद रफी भट भी कश्मीर में आतंकियों के सफाए…

अब तेल कंपनियां भी बायोएथेनॉल संयंत्रों में करेंगी पराली का इस्तेमाल

Posted by - November 20, 2017 0
  30,000 करोड़ का निवेश होने की संभावना, धान, गेहूं की पराली और बांस के डंठलों का होगा प्रयोग सरकार ने दिल्ली में वायु…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *