संसद में बोलीं सुषमा – जाधव की मां-पत्नी को विधवा की तरह मिलाया

37 0
  • विदेश मंत्री ने कहा – इस मीटिंग में सिर्फ मानवाधिकार के नियमों का उल्लंघन हुआ

नई दिल्‍ली। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ की गई बदसलूकी से पूरे देश में गुस्‍से का माहौल है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस मुद्दे पर गुरुवार को संसद में बयान दिया। राज्यसभा में अपने संबोधन में विदेश मंत्री ने कहा –  ‘कुलभूषण जाधव के परिवार की मुलाकात राजनयिक कोशिशों से हुई थी। सरकार ने जाधव मामले को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद उन पर जारी किए गए फांसी के फैसले को टाल दिया गया है। मुश्किल की घड़ी में सरकार परिवार के साथ है, हमने परिवार के सदस्यों की जाधव से मिलने की इच्छा को पूरा किया।’

सुषमा ने आगे कहा, ‘ये खेद का विषय है कि जाधव से मुलाकात के दौरान उनकी मां और पत्‍नी से अपमानजनक व्यवहार किया गया। पाकिस्तान ने इस मुलाकात को प्रोपेगेंडा बनाया। जाधव की मां सिर्फ साड़ी पहनती हैं, उनके भी कपड़े भी बदलवा दिए गए। दोनों सुहागनों को एक विधवा की तरह पेश किया गया। मीडिया को मां और पत्नी के नजदीक आने दिया गया, जो हमारी शर्तों के खिलाफ था। मुलाकात से लौटने के बाद मां-पत्‍नी ने बताया कि कुलभूषण दबाव में हैं। उनके कैद करने वालों ने जो उन्हें बोलने के लिए कहा था, जाधव सिर्फ वही बोल रहे थे। पाकिस्तान जाधव की मां-पत्‍नी के जूतों के साथ कुछ शरारत कर सकता है। इस मीटिंग में सिर्फ मानवाधिकार के नियमों का उल्लंघन ही हुआ है।’

सुषमा ने कहा, ‘पाकिस्तान में जाने से पहले एयरपोर्ट पर दो जगह मां और पत्‍नी की चेकिंग हुई तो क्या तब कोई चिप नहीं दिखाई दी। पूरा सदन पाकिस्तान के इस व्यवहार की निंदा करता है। कुलभूषण ने अपनी मां को देखते ही सबसे पहले पूछा कि बाबा कैसे हैं, क्योंकि जैसे ही उसने मां को बिना मंगलसूत्र और चूड़ी के देखा तो उसे शक हुआ कि कहीं कुछ अशुभ ना हो गया हो। कुलभूषण ने सबसे पहला सवाल पूछा कि बाबा कैसे हैं।’ सुषमा ने कहा कि दोनों सुहागनों को एक विधवा की तरह पेश किया गया। जाधव की मां अपने बेटे से मराठी में बात करना चाहती थी। जब वो बात करती थी तो इंटरकॉम बंद कर दिया गया।

विपक्ष ने किया सरकार का समर्थन

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बयान का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि जाधव पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वो झूठे और फर्जी हैं। पाकिस्तान में कोई लोकतंत्र नहीं है, हम पाकिस्तान को अच्छी तरीके से जानते हैं। जाधव की मां-पत्नी के साथ जो भी हुआ है, वो अपमान पूरे देश का है। कांग्रेस के अलावा अन्य सभी पार्टियों ने भी सरकार के बयान का समर्थन किया।

उल्‍लेखनीय है कि बुधवार को लोकसभा में कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ की गई बदसलूकी का मसला भी उठा था। विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस घटना पर पाकिस्तान की निंदा की। उनके अलावा विपक्षी पार्टियों ने सुषमा स्वराज के बयान की मांग की थी। कांग्रेस ने कुलभूषण जाधव मुद्दे पर पाकिस्तान से माफी की मांग की है। साथ ही, भारत सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ कड़े एक्शन की मांग भी की है।

Read More : https://aajtak.intoday.in/story/kulbhushan-jadhav-sushma-swaraj-parliament-statment-india-pakistan-1-973937.html

Related Post

पेट्रोल-डीजल और महंगा, 1 जून से ट्रक भाड़ा बढ़ाएगा महंगाई, 35 रुपए पहुंचा आलू

Posted by - May 29, 2018 0
नई दिल्ली। मंगलवार को लगातार 16वें दिन पेट्रोलियम कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमत में बढ़ोतरी की है। डीजल…

मेक्सिको जा रहीं मार्क जुकरबर्ग की बहन से विमान में छेड़छाड़

Posted by - December 2, 2017 0
मेक्सिको :  फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग की बहन रैंडी जकरबर्ग से अलास्का एयरलाइंस की फ्लाइट में कथित छेड़छाड़ का…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *