केंद्र ने लालू और जीतनराम की जेड प्लस सुरक्षा वापस ली

55 0

पटना.केंद्र सरकार ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद व राज्यसभा सांसद शरद यादव की सुरक्षा में कटौती कर दी है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को मिली जेड प्लस सुरक्षा हटा ली है। लालू प्रसाद को मिली जेड प्लस सुरक्षा को कम करते हुए जेड श्रेणी कर दी गई है। इसके तहत एनएसजी की 30 सदस्यीय टीम के सिक्योरिटी कवर को हटाते हुए सीआरपीएफ (करीब डेढ़ दर्जन जवान व अफसर) की सुरक्षा दी गई है।

शरद यादव को मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा को कम करते हुए ‘वाई प्लस’ कैटेगरी की सिक्योरिटी दी गई है। दूसरी ओर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की जेड प्लस सुरक्षा को समाप्त करते हुए सीआरपीएफ का सिक्योरिटी कवर हटा लिया गया है।

बिहार के किसी नेता को जेड प्लस सुरक्षा नहीं

गृह मंत्रालय के ताजा निर्देश के बाद अब राज्य के किसी वीआईपी को जेड प्लस का सिक्योरिटी कवर नहीं मिलेगा। अब 16 की जगह 15 वीआईपी के साथ ही एक्स, वाई से लेकर जेड श्रेणी तक का सुरक्षा घेरा रहेगा। इनमें सबसे अधिक वाई प्लस श्रेणी के तहत 8 वीआईपी को सीआरपीएफ के सिक्योरिटी कवर दिए गए हैं। गृह मंत्रालय के स्तर पर समीक्षा के बाद बिहार समेत देश के 8 वीआईपी की सुरक्षा में कटौती की गई है। 4 वीआईपी की जेड श्रेणी की सुरक्षा को वाई श्रेणी कर दी गई है। इनमें दिल्ली के पूर्व एलजी नजीब जंग, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर, पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी व जामा मस्जिद के शाही इमाम शामिल हैं।

Related Post

जानिए किस राज्य में नहीं लागू हो पाएगा समलैंगिकता पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

Posted by - September 8, 2018 0
नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दो वयस्क लोगों के बीच परस्पर सहमति से बने समलैंगिक संबंध देश में अब…

चीन में एक्सपर्ट्स ने किया दावा, परफ्यूम और हेयर जेल की वजह से बढ़ रही स्मॉग की समस्या

Posted by - October 18, 2018 0
बीजिंग। चीन में एयर क्वालिटी इतनी खराब हो गई है कि बीजिंग के कई इलाकों में धुंध छा गई। सोमवार…

मुगाबे को राष्ट्रपति पद से हटाने को सड़कों पर उतरे जिम्बाब्वे के लोग

Posted by - November 19, 2017 0
प्रदर्शनकारियों के हाथ में थे पोस्टर, जिन पर मुगाबे के लिए लिखा था – ‘अब जिम्बाब्वे छोड़ दो’ हरारे। जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *