मुंबई हमले के मास्‍टरमाइंड हाफिज सईद को रिहा करने के आदेश

106 0
  • रिहाई से खुश आतंकी हाफिज सईद ने फिर उगला जहर, कहा – कश्‍मीर हम लेकर रहेंगे

लाहौर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के न्यायिक समीक्षा बोर्ड ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद की रिहाई का आदेश दिया है। यह मुंबई हमले को लेकर सईद को न्याय के कटघरे में खड़ा करने के भारत के प्रयासों के लिए झटका है। सईद इस साल जनवरी से ही नजरबंद था। वहीं दूसरी ओर जमात-उद-दावा के ट्विटर पर जारी अकाउंट पर सईद ने एक छोटे वीडियो में कहा, ‘कश्मीर की वजह से भारत मेरे पीछे पड़ा हुआ है, लेकिन मेरे खिलाफ भारत की सभी कोशिशें नाकाम हुईं और मैं रिहा हो गया।’ इसके साथ ही उसने कहा कि पाकिस्तान में आजादी की जीत हुई है और कश्मीर हम लेकर रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि भारत ने पाकिस्तान से बार-बार कहा है कि मुंबई हमले के मामले की फिर से जांच की जाए और उसने अपनी ओर से दिए गए सबूतों के आधार पर सईद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी जकीउर रहमान लखवी के खिलाफ सुनवाई की मांग की है। हाफिज की नजरबंदी की मियाद को तीन महीने बढ़ाने के सरकार के आग्रह को खारिज करते हुए बोर्ड ने बुधवार (22 नवंबर) को सईद की रिहाई का आदेश दिया। आदेश के अनुसार, नजरबंदी की 30 दिनों की मियाद खत्म होते ही सईद को रिहा कर दिया जाएगा। यह मियाद अगले कुछ दिनों में खत्म होने वाली है।

आतंकी हाफिज सईद की रिहाई से पाकिस्तान को सता रहा है डर

न्यायमूर्ति अब्दुल समी खान की अध्यक्षता वाले बोर्ड ने कहा, ‘अगर जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद किसी अन्य मामले में वांछित नहीं है तो उसकी रिहाई का आदेश दिया जाता है।’ अगर सरकार किसी दूसरे मामले में सईद को हिरासत में नहीं लेती है तो सईद अगले कुछ दिनों में बाहर आ सकता है। बोर्ड के फैसले से पहले संघीय वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी इसके समक्ष पेश हुए और सईद की नजरबंदी को जायज ठहराते हुए ‘कुछ महत्वपूर्ण साक्ष्य’ सौंपे। बहरहाल, बोर्ड ने इस अधिकारी की दलीलों को नहीं माना।

इससे पहले पंजाब प्रांत की सरकार ने कहा था कि अगर सईद को छोड़ा गया तो पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय की ओर से प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है। इस बीच, पंजाब सरकार के एक सूत्र ने बताया कि सईद शायद बाहर नहीं आए क्योंकि सरकार उसे एक अन्य मामले में हिरासत में लेने पर विचार कर रही है। आधिकारिक सूत्र ने कहा, ‘सरकार मौजूदा हालात में सईद को आजाद करने का जोखिम मोल नहीं ले सकती। सईद को रिहा करने पर अंतरराष्ट्रीय स्‍तर पर प्रतिक्रिया हो सकती है।’

इस साल 31 जनवरी को सईद और उसके चार साथियों अब्दुल्ला उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्दुल रहमान आबिद और काजी कासिफ हुसैन को पंजाब की सरकार ने आतंकवाद विरोधी कानून-1997 और आतंकवाद विरोधी कानून की चौथी अनुसूची के तहत 90 दिनों के लिए नजरबंद किया था। सईद के चार साथियों को अक्तूबर के आखिरी सप्ताह में रिहा कर दिया गया था। अमेरिका ने सईद पर एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है।

Read More : http://zeenews.india.com/hindi/world/26/11-mastermind-hafiz-saeed-disgorge-poison-against-india-after-walk-free/352532

 

Related Post

सड़क दुर्घटना में बाल-बाल बचे संघ प्रमुख मोहन भागवत

Posted by - October 6, 2017 0
  मथुरा जाते समय यमुना एक्सप्रेस-वे पर उनके काफिले की गाड़ियां आपस में भिड़ीं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत…

पिछले 6 साल में 114% बढ़े मुंह के कैंसर के मामले, जानिए क्या है डॉक्टर्स की राय

Posted by - November 16, 2018 0
मुंबई। पिछले 6 साल में कैंसर के केस में 15.7 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च…

सवर्णों का भारत बंद : बिहार-मध्य प्रदेश में व्यापक असर, कई जगह पथराव व जाम, ट्रेनें रोकीं

Posted by - September 6, 2018 0
नई दिल्‍ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए SC/ST एक्ट में संशोधन कर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *