वर्ल्‍ड टैलेंट रैंकिंग में सुधरी भारत की स्थिति, पहुंचा 51वें स्थान पर

20 0

प्रतिभाओं को आकर्षित, विकसित और उन्हें अपने यहां बनाए रखने के मामले में भारत की वैश्विक रैंकिंग तीन अंक सुधरकर 51वीं हो गई है. हालांकि इस मामले में स्विट्जरलैंड अब भी पहले स्थान पर बना हुआ है. स्विट्जरलैंड के प्रमुख बिजनेस स्कूल आईएमडी ने यह सूची जारी की है. विश्व प्रतिभा रैकिंग में यूरोप का दबदबा कायम है.

यूरोप के स्विट्जरलैंड, डेनमार्क और बेल्जियम देश इस मामले में सबसे प्रतिस्पर्धी है. इसके अलावा ऑस्ट्रिया, फिनलैंड, नीदरलैंड, नॉर्वे, जर्मनी, स्वीडन और लक्जमबर्ग शीर्ष दस देशों में शामिल हैं.रिपोर्ट के अनुसार, यूरोप की जबरदस्त शिक्षा प्रणाली उसे भीड़ से अलग बनाती है. यह उसे स्थानीय प्रतिभा के विकास और उसी समय विदेशी प्रतिभा और उच्च कुशल पेशेवरों को आकर्षित करने की क्षमता प्रदान करता है. इससे कई यूरोपीय कारोबार अपने प्रदर्शन के लिए उन पर ऐतबार करते हैं.

63 देश किए जाते हैं शामिल

आईएमडी की वार्षिक विश्व प्रतिभा रैंकिंग में 63 देश शामिल किए जाते हैं और भारत का स्थान सुधरकर 51वां हो गया है. इसमें शामिल देशों की रैंकिंग तीन प्रमुख श्रेणियों पर निर्भर करती है. यह श्रेणियां निवेश एवं विकास, लोगों के बीच उसकी अपील और उन्हें लेकर देश की तैयारी है. भारत को इसमें क्रमश: 62वां, 43वां और 29वां स्थान प्राप्त हुआ है.

भारत को सुधार की जरूरत

आईएमडी स्विट्जरलैंड के प्रतिस्पर्धात्मकता मामलों के प्रमुख ऑर्चुरो ब्रिस ने कहा कि स्थानीय प्रतिभा को अपने यहां बनाए रखने और विदेशी कार्यबल को आकर्षिक करने के क्षेत्र में भारत अच्छा काम नहीं कर रहा है. उन्होंने कहा कि दोनों ही बातों में घरेलू स्तर पर रोजगार के लिए पारिश्रमिक स्तर, जीवनस्तर की गुणवत्ता आवश्यक तत्व हैं.

Related Post

राहुल गांधी ने जेटली पर कसा तंज, कहा – आपकी दवा में दम नहीं

Posted by - October 26, 2017 0
नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री के अार्थिक पैकेज पर अाज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जमकर हमला बोला। जीएसटी को ‘गब्बर सिंह…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *