अब 24 नवंबर से नहीं शुरू होगा वैष्णो देवी का वैकल्पिक मार्ग

136 0
  • सुप्रीम कोर्ट ने लगाई राष्‍ट्रीय हरित प्राधिकरण (NGT) के फैसले पर रोक

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने वैष्णो देवी यात्रा के लिए वैकल्पिक मार्ग 24 नवंबर तक चालू रखने के NGT खे आदेश पर रोक लगा दी है।एनजीटी ने 24 नवंबर से वैकल्पिक मार्ग चालू करने और तीर्थ यात्रियों की संख्या रोजाना 50000 तक सीमित करने का आदेश दिया था। एनजीटी के आदेश के खिलाफ वैष्णों देवी श्राइन बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट से एनजीटी के आदेश पर रोक लगाने की मांग की थी।

SC ने लगाई NGT के फैसले पर रोक

एनजीटी ने पिछले हफ्ते ही वैष्णो देवी यात्रा में घोड़ों, खच्चरों आदि जानवरों का प्रयोग किये जाने के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए वैष्णों देवी में रोजाना यात्रियों की संख्या 50000 तक सीमित कर दी थी। इसके अलावा एनजीटी ने श्राइन बोर्ड को आदेश दिया था कि कि वह बाणगंगा से अर्धकुंआरी तक का बनाया गया वैकल्पिक मार्ग 24 नवंबर से चालू कर दे।वैष्णों देवी श्राइन बोर्ड ने वकील सौरभ मिश्रा के जरिये याचिका दाखिल कर एनजीटी के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। बोर्ड का कहना है कि एनजीटी ने जो आदेश दिया है, उसे देने का उसे अधिकार ही नहीं है। एनजीटी को सिर्फ पर्यावरण के मामले में ही सुनवाई करने का अधिकार है।

बोर्ड ने कहा है कि एनजीटी ने बाणगंगा से अर्धकुंआरी तक बनाए गये वैकल्पिक मार्ग को 24 नवंबर तक शुरू करने का आदेश दिया है। लेकिन 24 नवंबर तक वैकल्पिक मार्ग शुरू करना संभव नहीं है।इसके अलावा वैष्णों देवी आने वाले यात्रियों की रोजाना संख्या 50000 तक सीमित करने का भी कोई औचित्य नहीं है। बोर्ड ने एनजीटी का आदेश रद्द करने के अलावा कोर्ट से उस पर तत्काल अंतरिम रोक लगाने की भी मांग की।

Related Post

रेवाड़ी गैंगरेप : सेना के जवान समेत फरार दोनों मुख्य आरोपी भी पुलिस के शिकंजे में

Posted by - September 23, 2018 0
रेवाड़ी। रेवाड़ी में छात्रा से गैंगरेप मामले में एसआईटी को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। एसआईटी ने मामले में फरार चल…

लालू के बेटे की शादी में मोदी नहीं, बुरी नजर से बचने को टांगे नींबू-मिर्च

Posted by - May 12, 2018 0
पटना। आरजेडी प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव आज शादी करने वाले हैं। वो बिहार के पूर्व मंत्री…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *