एनआरआई को बैंक खाते व पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य नहीं

59 0

नई दिल्लीः भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यू.आई.डी.ए.आई.) ने अप्रवासी भारतीयों (एन.आर.आई.) और भारतीय मूल के व्यक्तियों (पी.आई.ओ.) को बड़ी राहत दी है। प्राधिकरण ने कहा कि एन.आर.आई. और पी.आई.ओ. को बैंक खातों समेत दूसरी अन्य सेवाओं को आधार के साथ जोड़ने की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही प्राधिकरण ने विभिन्न कार्यान्वयन एजेंसियों को ऐसे लोगों की स्थिति की पुष्टि के लिए एक तंत्र तैयार करने के निर्देश दिए।

प्राधिकरण की ओर से कहा गया है कि मनी लॉन्ड्रिंग नियम 2017 और आयकर अधिनियम के तहत उन्हीं लोगों को बैंक खातों और पैन को क्रमश: आधार से जोड़ना निर्धारित है, जो आधार नामांकन के लिए पात्र है। यू.आई.डी.ए.आई. ने कहा कि सभी केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों, राज्य सरकारों और अन्य कार्यान्वयन एजेंसियों को ध्यान रखना चाहिए कि दस्तावेज के रूप में आधार केवल उन लोगों से मांगा जा सकता है जो आधार अधिनियम के तहत पात्र हैं। ज्यादातर प्रवासी भारतीय/ भारतीय मूल के व्यक्तियों/ ओ.सी.आई. आधार नामांकन के लिए पात्र नहीं हो सकते हैं।

यू.आई.डी.ए.आई. ने राज्य सरकारों और केंद्रीय मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा, लाभ और सेवाओं के लिए आधार को जोड़ने या जमा करने संबंधी कानून आधार अधिनियम 2016 के अनुसार निवासियों के लिए लागू होते हैं। आधार अधिनियम के तहत अधिकांश एन.आर.आई./पी.आई.ओ./ओ.सी.आई. आधार नामांकन के लिए पात्र नहीं हो सकते।

Related Post

शोध : नौकरी में प्रमोशन का कोई सटीक फॉर्मूला नहीं, लेकिन बुद्धिमानी का है अहम रोल

Posted by - November 19, 2018 0
ब्रिस्टल। अक्‍सर नौकरी पेशा लोगों को उनकी मेहनत, प्रतिभा और वरिष्‍ठता के बावजूद मनचाहा प्रमोशन नहीं मिलता। ऐसे लोग हमेशा…

शेख हसीना की हत्या का प्रयास मामले में 11 लोगों को 20 साल जेल

Posted by - October 30, 2017 0
ढाका: बांग्लादेश की एक अदालत ने 28 साल पहले प्रधानमंत्री शेख हसीना के पारिवारिक आवास पर उनकी हत्या की कोशिश करने वाले 11…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *