दाऊद ने नदीम से करवाई थी गुलशन कुमार की हत्‍या!

27 0

विदेशों में बैठे भगौड़ों के प्रत्यर्पण के लिए मोदी सरकार की ओर से छेड़ी गई मुहिम का असर दिख रहा है. पाकिस्‍तान में छिपे अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने साल 1997 में ‘कैसेट किंग’ गुलशन कुमार की हत्‍या में वांछित संगीतकार नदीम सैफी को कानूनी पचड़े से बचाने के लिए हाथ-पैर मारना शुरू कर दिया है. टी-सिरीज़ म्यूजिक कंपनी के मालिक गुलशन कुमार की हत्या के मामले में अभियुक्त बनाए जाने के बाद से नदीम सैफी साल 2000 से ब्रिटेन में निर्वासन में रहे रहे हैं.

नदीम सैफी ने हमेशा खुद को निर्दोष बताते हुए यह कहा है कि उनका गुलशन कुमार हत्‍याकांड से किसी भी तरह का कोई जुड़ाव नहीं है. 12 अगस्‍त, 1997 को मुंबई में गुलशन कुमार की हत्‍या में सह-संदिग्‍ध के तौर पर नदीम श्रवण को नामजद किया गया था. बता दें गुलशन कुमार को मंदिर के बाहर तीन हमलावरों ने 16 गोलियां बरसाकर हत्‍या कर दी थी.

ए‍क निजी टीवी चैनल को मिले टेप में दाऊद को खुद को फोन पर भारत सरकार की मुहीम और नदीम को लेकर फिक्र जताते हुए सुना जा सकता है. चैनल के पास मौजूद टेप से कॉल इंटरसैप्ट्स से सबसे सनसनीखेज माने जाने वाले गुलशन कुमार हत्याकांड की तह तक जाने में मदद मिलती है. साल 2015 से ही रिकॉर्ड की जानेवाली बातचीत के इन टेप्‍स में दाऊद को चिंता जताते हुए सुना जा सकता है.

Read more: http://www.prabhatkhabar.com/news/bollywood/tape-expose-dawood-ibrahim-had-murdered-gulshan-kumar-by-nadeem-saifee/1083899.html

Related Post

180 तरह के डोसे बनाने के लिए जाने जाते हैं ये ब्रदर्स, यहां आने वाला दोबारा जरूर आता है

Posted by - August 21, 2018 0
कोच्चि। ज्यादातर जगहों पर डोसा एक ही तरीके से बनाया जाता है। बस स्टोव गर्म करके तवे पर तेल डालो,…

श्रीनगर में सीजन का पहला स्नोफॉल, डेढ़ फीट मोटी बर्फ की परत जमी; जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद

Posted by - December 12, 2017 0
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में इस मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। यहां सोमवार को बारिश हुई थी। मौसम…

कावेरी जल विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने कहा, नदी पर किसी एक राज्य का अधिकार नहीं

Posted by - February 16, 2018 0
ऐतिहासिक फैसले में सर्वोच्‍च अदालत ने तमिलनाडु के पानी में की कटौती, कर्नाटक को ज्‍यादा पानी नई दिल्ली। कावेरी जल विवाद…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *