आंध्र प्रदेश में कृष्णा नदी में नाव पलटी, 16 लोगों की मौत; 7 लापता

97 0
अमरावती.विजयवाड़ा के करीब कृष्णा नदी में रविवार को 38 लोगों को ले जा रही नाव पलट गई। 16 लोग डूब गए और 7 अभी लापता हैं। डीजीपी संभा शिवा राव ने कहा कि लापता लोगों की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया गया। NDRF की टीमें और कृष्णा डिस्ट्रिक्ट के अधिकारी ऑपेरशन में लगे। आंध्र की टूरिज्म मिनिस्टर भूमा अखिला प्रिया ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस बात का पता लगाएं कि बोट ऑपरेटिंग कंपनी के पास परमिशन थी, या नहीं।

ओवरलोड थी नाव, ज्यादातर के पास नहीं थी लाइफ जैकेट

 पुलिस के मुताबिक, इस नाव पर क्षमता से ज्यादा 38 लोग सवार थे। ज्यादातर लोगों के पास लाइफ जैकेट नहीं थी। रविवार शाम के हादसा तब हुआ, जब ये नाव गोदावरी और कृष्णा नदी के पवित्र संगम के इलाके में थी। नाव पलटते ही ज्यादातर लोग इसके नीचे दबकर डूब गए।
किन लोगों की हादसे में गई जान
पुलिस के मुताबिक, नाव पर सवार ज्यादातर लोग प्रकाशम डिस्ट्रिक्ट के ओंगोल वॉकर क्लब के मेंबर्स थे। कुछ लोग नेल्लोर डिस्ट्रिक्ट के थे, जो विजयवाड़ा घूमने आए थे।हादसे के दौरान लोकल मछुआरों ने 15 पैसेंजर्स की जान बचाई।
कितनी टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में लगीं
NDRF की दो टीमें जिनमें 60 मेंबर्स थे, मौके पर रेस्क्यू के लिए पहुंचीं। इसके अलावा स्टेट डिजास्टर रेस्क्यू फोर्स (SDRF) के 45 मेंबर्स, डिजास्टर रेस्पॉन्स और फायर सर्विस डिपार्टमेंट के 60 मेंबर्स रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाए गए।
डूबने वालों में जिला BJP अध्यक्ष भी शामिल
 डूबने वाले एक शख्स की पहचान प्रभाकर रेड्डी के तौर पर की गई है। ये प्रकाशम डिस्ट्रिक्ट की बीजेपी यूनिट के अध्यक्ष थे।हादसे पर आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू, डिप्टी चीफ मिनिस्टर एन चिना राजप्पा, अपोजिशन लीडर वाईएस जगनमोहन रेड्डी, आंध्र प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष के हरि बाबू ने दुख जताया है। आंध्र सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने का एलान किया है।

Related Post

शेविंग के बाद मेकअप और फरफ्यूम लगा कर ओरांगुटान से करवाती थी वेश्यावृत्ति, 6 साल तक चलता रहा खेल

Posted by - November 29, 2018 0
जकार्ता। आपने आजतक वेश्यावृत्ति की अलग-अलग कहानियां सुनी होंगी लेकिन अब तक ऐसी कोई कहानी नहीं सुनी होगी जो कि…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *