हिमाचल विधानसभा चुनाव में रिकॉर्ड मतदान, 74.88% वोटिंग

75 0
  • 50 लाख से अधिक मतदाताओं ने किया अपने मताधिकार का प्रयोग, पिछली बार से ज्‍यादा वोट पड़े

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा की सभी 68 सीटों के लिए गुरुवार शाम 5 बजे मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया। राज्य मुख्यालय से प्राप्त सूचना के अनुसार, हिमाचल में 74.88 प्रतिशत रिकॉर्ड मतदान दर्ज किया गया है। चम्बा जिला में 74, हमीरपुर में 69.50, शिमला में 72.5, सोलन में 77.44, मंडी में 75, कांगड़ा में 72, कुल्लू में 77.9, सिरमौर में 82, लाहौल-स्पीति में 73.4, बिलासपुर में 75 व किनौर में 75 प्रतिशत मतदान हुआ है। गौरतलब है कि वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में 73.51 फीसदी मतदान हुआ था लेकिन इस बार करीब एक प्रतिशत ज्यादा वोट पड़े।

चुनाव के लिए 7521 मतदान केंद्र बनाए गए थे, जहां 50 लाख से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। 83 मतदान केंद्रों को अतिसंवेदनशील और 39 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया गया था। कांगड़ा जिले में सबसे अधिक 297 और किन्नौर जिले में सबसे कम दो मतदान केंद्र अतिसंवदेनशील घोषित किए थे। एक प्रत्याशी के निधन के बाद अब चुनाव में 337 उम्मीदवार मैदान में हैं जिनमें 19 महिलाएं हैं। राज्य में मतदाताओं की कुल संख्या 50,25,941 हैं, जिनमें 25,68,761 पुरुष मतदाता और 24,57,166 महिला मतदाता एवं 14 किन्नर मतदाता हैं।

भाजपा और कांग्रेस ने सभी 68 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। बहुजन समाज पार्टी ने 42, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने 14, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने 3 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी ने 2-2 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए हैं। इसके अलावा 112 निर्दलीय उम्मीदवार भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। कुछ अन्य पंजीकृत दलों ने 27 उम्मीदवार उतारे हैं। चुनाव में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों के साथ 11 हजार 50 वीवीपैट का भी इस्तेमाल किया गया।

राज्य में सर्वाधिक 12 उम्मीदवार धर्मशाला सीट से हैं जबकि सबसे कम 2 उम्मीदवार झंटुता (सुरक्षित) सीट से हैं। मंडी सीट से सर्वाधिक दो महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा निर्वाचन क्षेत्र लाहुल स्पीति है लेकिन वहां सबसे कम मतदाता हैं जबकि मतदाताओं की दृष्टि से सबसे बड़ा निर्वाचन क्षेत्र सुल्ला है। केवल झंडुता सुरक्षित सीट पर ही सीधी टक्कर है बाकी सीटों पर त्रिकोणीय और चतुष्कोणीय मुकाबला है। कांग्रेस मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है। दूसरी तरफ भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल को नेता घोषित किया है।

Read More : http://himachal.punjabkesari.in/national/news/vs-election-2017-703644

Related Post

लोकतंत्र में भीड़तंत्र को जगह नहीं, संसद बनाए सख्त कानून : सुप्रीम कोर्ट

Posted by - July 17, 2018 0
सर्वोच्‍च अदालत ने कहा – भीड़तंत्र को नए कानून के रूप में नहीं दे सकते मान्यता नई दिल्ली। गोरक्षा के नाम…

श्वेता बच्चन चल रही हैं अपने दादा जी के नक़्शे क़दमों पर…

Posted by - April 19, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन नंदा भले ही अपने अपने माता-पिता के नक़्शे-क़दम पर न चली हों, लेकिन श्वेता  अपने दादाजी को…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *