Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

मलेशिया सरकार जाकिर को भारत के हवाले करने को तैयार

71 0
  • मलेशिया के डिप्‍टी पीएम बोले – भारत सरकार जाकिर के प्रत्‍यर्पण को आवेदन  करेगी तो वे उसे सौंप देंगे

कुआलालंपुर। मलेशिया की पनाह लेने वाले जाकिर नाईक को भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है। मलेशिया की सरकार ने अब खुद पेशकश की है कि यदि भारत सरकार उनसे जाकिर के प्रत्यर्पण की मांग करेगी तो वह उसे सौंप देंगे। मलेशिया सरकार के इस रुख से साफ है कि वहां की सरकार भी अब जाकिर पर सख्त हो चुकी है।

पासपोर्ट नहीं करेंगे रद्द

मलेशिया के उप प्रधानमंत्री अहमद जाहिद हमीदी ने कहा कि अगर भारत सरकार जाकिर के प्रत्‍यर्पण के लिए आवेदन करेगी तो वे उसे सौंप देंगे। उन्होंने बताया कि अभी तक इस संबंध में मलेशिया सरकार के पास कोई आवेदन नहीं आया है। हमीदी ने कहा कि फिलहाल जाकिर का पासपोर्ट रद्द नहीं किया जा सकता, क्योंकि जाकिर ने अभी तक मलेशिया सरकार के किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया है।

धार्मिक कट्टरता फैलाने का आरोप

हाल ही में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि वे जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए मलेशिया सरकार से आवेदन करेंगे। विवादित धर्मगुरु जाकिर नाईक पर युवाओं में धार्मिक कट्टरता फैलाने का आरोप है। इस मामले की एऩआईए जांच कर रही है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, नाईक को पांच वर्ष पहले ही वहां स्थायी निवास प्रदान कर दिया गया था।

देशद्रोह का भी है आरोप

देशद्रोह के साथ जाकिर नाईक पर आतंकी बनने के लिए उकसाने के भी आरोप हैं। एनआईए ने 18 नवंबर, 2016 को अपनी मुंबई शाखा में नाईक के खिलाफ यूएपीए कानून और आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया  था। जाकिर नाईक जुलाई 2016 में बांग्लादेश के ढाका में हुए आतंकी हमले के बाद एनआईए के रडार पर आया था। हमले के बाद आतंकियों ने कहा था कि जाकिर नाईक के भाषण से प्रेरित होकर उन्होंने यह हमला किया है। इसके बाद नाईक 1 जुलाई, 2016 को भारत से फरार हो गया था।

Read More : https://aajtak.intoday.in/story/zakir-naik-extradition-case-malaysia-ready-for-extradition-ahmad-zahid-hamidi-1-963407.html

Related Post

क्यूबा में 59 साल बाद ‘कास्त्रो युग’ का अंत, मिगेल डियाज बने नए राष्ट्रपति

Posted by - April 20, 2018 0
दुनिया के आखिरी कम्युनिस्ट देशों में शुमार क्यूबा में 60 साल तक कास्त्रो परिवार का रहा राज हवाना। क्यूबा में 59…

Whatsapp का मास्टर बना देंगी आपको ये Tricks, ऐसे जानें आपको किसी ने ब्लॉक किया है नहीं

Posted by - September 23, 2018 0
नई दिल्ली। वैसे तो आपको Whatsapp के कई ट्रिक्स मालूम होंगे लेकिन ब्लॉकिंग को लेकर कई लोग कंफ्यूज रहते हैं।…

दुनिया में सबसे सुंदर है इस बच्ची की हैंडराइटिंग, जो कंप्यूटर को भी देती है मात

Posted by - October 9, 2018 0
लखनऊ। पढ़ाई शुरू करने के साथ ही बच्‍चों को सुंदर हैंडराइटिंग के लिए नसीहत मिलनी शुरू हो जाती है। दरअसल,…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *