प्रद्युम्न हत्‍याकांड में ट्विस्‍ट : स्‍कूल के ही सीनियर छात्र ने की थी मासूम की हत्‍या

52 0
  • जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट ने आरोपी छात्र को तीन दिन की सीबीआई हिरासत में सौंपा
  • परीक्षा और पैरेंट्स-टीचर्स मीटिंग (पीटीएम) टलवाने के लिए 11वीं के छात्र ने की प्रद्युम्न की हत्या

नई दिल्ली। सीबीआई ने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए इसी स्कूल के 11वीं के एक छात्र को हिरासत में लिया है। सीबीआई का कहना है कि पढ़ाई में कमजोर आरोपी छात्र ने पैरेंट्स-टीचर्स मीटिंग (पीटीएम) और परीक्षा रुकवाने के उद्देश्य से प्रद्युम्‍न की हत्या की थी। जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट ने सीबीआई को तीन दिन तक आरोपी किशोर से पूछताछ करने की इजाजत दी है। ध्यान देने की बात है कि इसके पहले इस मामले में गुरुग्राम पुलिस ने बस कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बताते हुए गिरफ्तार किया था।

स्‍कूल प्रबंधन की संलिप्‍तता की जांच हो : प्रद्युम्‍न के पिता 

अशोक कुमार के आरोपी मानने से इनकार करने और मामले की सीबीआइ जांच करने की मांग करने वाले प्रद्युमन के पिता वरुण ठाकुर ने सीबीआइ की जांच पर भरोसा जताया है। पर साथ ही इसमें स्कूल प्रबंधन की संलिप्तता की जांच की भी मांग की है। वहीं आरोपी के पिता अपने बेटे पर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर रहे हैं।

सैकड़ों मोबाइल फोन के कॉल डिटेल का विश्लेषण

सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आरोपी छात्र तक पहुंचने के पहले जांच एजेंसी ने हत्या से जुड़े सभी साक्ष्यों का वैज्ञानिक और फॉरेंसिक जांच कराने, सीसीटीवी फुटेज का गहराई से विश्लेषण करने के साथ-साथ 125 से अधिक छात्रों, शिक्षकों और स्कूल स्टाफ से पूछताछ की थी। अधिकारी ने कहा कि इस सिलसिले में सैकड़ों मोबाइल फोन के कॉल डिटेल का भी विश्लेषण किया गया। इस बीच आरोपी छात्र से चार बार पूछताछ की गई। चौथी बार पूछताछ के बाद मंगलवार की रात को 11.30 बजे आरोपी छात्र को हिरासत में ले लिया गया। छात्र के किशोर होने के कारण उसके पिता को भी रात भर सीबीआई मुख्यालय में उसके साथ ही रखा गया।

सुबह 10 से पांच बजे तक पूछताछ कर सकेगी सीबीआई 

बुधवार को सीबीआई ने आरोपी छात्र को जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट में पेश किया और छह दिन तक पूछताछ करने की इजाजत मांगी, लेकिन अदालत ने जांच एजेंसी को तीन दिन तक पूछताछ करने की इजाजत दी। इस दौरान सीबीआई उससे केवल सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक पूछताछ कर सकेगी। पूछताछ के दौरान बाल सुधार गृह की ओर एक महिला भी मौजूद रहेगी। आरोपी छात्र के नाबालिग होने के कारण सीबीआई आरोपी छात्र की पहचान नहीं बता रही है।

बस कंडक्‍टर के खिलाफ नहीं मिला सबूत 

सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस मामले में किसी को क्लीन चिट नहीं दी गई है और जांच अब भी जारी है। लेकिन साथ ही उन्होंने स्वीकार किया कि गुरुग्राम पुलिस ने जिस बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था, उसके खिलाफ सीबीआई को कोई सबूत नहीं मिला है। यानी सीबीआई ने एक तरह से गुरुग्राम पुलिस की जांच को खारिज कर दिया है।

Read More : http://www.jagran.com/delhi/new-delhi-city-ncr-class-11th-student-arrested-in-connection-with-murder-of-pradyuman-thakur-16996248.html

 

Related Post

ओवैसी ने पूछा- क्या पीएम मोदी लाल किले पर राष्ट्रीय झंडा फहराना बंद करेंगे

Posted by - October 17, 2017 0
हैदराबाद: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक संगीत सोम के ताजमहल को ‘गद्दारों’ द्वारा बनाए जाने के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *