चिदंबरम को लेटर लिख सोनिया ने की थी तेजपाल की मदद !

45 0
  • लीक हुए कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी द्वारा तत्‍कालीन वित्‍त मंत्री को लिखे पत्र

नई दिल्ली। अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘टाइम्स नाउ’ के हाथ एक लेटर लगा है, जो कि 2004 में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तत्कालीन वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को लिखा था। इस पत्र में तहलका की फाइनेंसर प्राइवेट कंपनी ‘फर्स्ट ग्लोबल’ के खिलाफ जारी जांच को लेकर निर्दैश दिए गए थे। उस समय तहलका के संपादक तरुण तेजपाल थे जो फिलहाल रेप के मामले में जेल में बंद हैं।

पत्र से हितों के टकराव का मामला सामने आ रहा है। सोनिया के चिदंबरम को पत्र लिखने के 4 दिन बाद यूपीए सरकार ने मंत्रियों के समूह का गठन किया और पत्र के 6 दिन बाद ‘फर्स्ट ग्लोबल’ के खिलाफ जांच हटा ली गई। प्राइवेट कंपनी ‘फर्स्ट ग्लोबल’ के प्रमोटर्स शंकर शर्मा और देविना मेहरा ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा था, जिसके जवाब में सोनिया गांधी ने चिदंबरम को पत्र लिखा। इसके अगले दिन चिदंबरम ने ईडी और सीबीडीटी के प्रमुखों को उनसे मिलने के लिए कहा।

तहलका की कार्यशैली को लेकर प्रवर्तन निदेशालय जांच कर रहा था। एनडीए सरकार ने तहलका की कार्यशैली की जांच के आदेश दिए थे। खुलासे के बाद सुब्रमण्यन स्वामी ने चैनल से कहा कि ईडी को मामले में एफआईआर दर्ज करनी चाहिए, ताकि यह मामला तार्किक अंजाम तक पहुंच सके।

उधर, पी. चिदंबरम ने माना है कि पत्र पर उनकी टिप्पणियां सही हैं। उन्होंने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मुझे सोनिया गांधी द्वारा लिखित एक पत्र की प्रति दिखाई गई, जिसमें ‘फर्स्ट ग्लोबल’ के लेटर को आगे बढ़ाया गया था। पत्र पर मेरी टिप्पणियां सही हैं। मुझे यकीन है कि मंत्रालय की तरफ से मैंने जो भी मैटेरियल रहा होगा, उसी आधार पर उत्तर भेजा होगा। सोनिया गांधी के पत्र और मेरे उत्तर को एक साथ पढ़ा जाना चाहिए।’

Read More : https://navbharattimes.indiatimes.com/india/massive-conflict-of-interest-exposed-sonia-gandhi-influenced-probe-into-firm-linked-to-tejpal/articleshow/61535867.cms

Related Post

बीएचयू से छुट्टी की बात पर भड़के वीसी, बोले-जबरदस्‍ती की तो दे दूंगा इस्‍तीफा

Posted by - September 29, 2017 0
नई दिल्ली: बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने गुरुवार को कहा कि अगर उन्हें छुट्टी पर जाने के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *