कमल हासन बोले – सच बोलने पर लोगों को जेल में डालते रहे, तो ये कम पड़ जाएंगी

119 0
  • साउथ के सुपर स्टार बोले – एक्स्ट्रीमिज्म और टेररिज्म में फर्क होता है

चेन्नई। साउथ के सुपर स्टार कमल हासन ने कहा है, ‘अगर सच बोलने पर लोगों को इसी तरह जेल में डाला जाता रहा तो एक दिन ये जेल भी कम पड़ जाएंगी।’ बता दें कि पिछले हफ्ते ही उन्होंने तमिल मैगजीन ‘आनंदा विकटन’ में एक आर्टिकल लिखा था। इसमें कहा गया था कि राइट विंग हिंसा में शामिल है और हिंदू कैम्पों में आतंकवाद दाखिल हो चुका है। रविवार को हासन ने कहा- ‘कट्टरता और आतंकवाद में फर्क है।’

मैं रेशनेलिस्ट हूं

साउथ के इस सुपर स्टार ने एक बयान में कहा – ‘एक्स्ट्रीमिज्म और टेररिज्म में फर्क होता है, लेकिन मैं अपनी विचारधारा के बारे में दूसरों को ज्ञान नहीं दे सकता। मैं एक रेशनेलिस्ट (तर्कवादी) हूं।’ कमल हासन ने आगे कहा – ‘लोग कहते हैं कि मैं एक सियासी पार्टी बनाने और उसके नाम का ऐलान करने वाला हूं, लेकिन बच्चे का नाम रखने के लिए बच्चा भी तो होना जरूरी है।’

पॉलिटिकल पार्टी पर क्या कहा?

कमल ने पॉलिटिकल पार्टी बनाने पर भी रुख साफ किया। कहा – ‘पहला कदम मोबाइल ऐप लॉन्च करना होगा। इससे मैं फैन्स और अपने करीबियों के टच में बना रहूंगा। इसके अलावा पॉलिटिकल पार्टी को मिलने वाले फंड भी रिसीव किए जा सकेंगे।’ फैन्स से पार्टी के लिए फंड इकट्ठा करने के सवाल पर हासन ने कहा – ‘इसमें कुछ भी गलत नहीं है क्योंकि ये तमिलनाडु की भलाई के लिए होगा। अगर मैं अपने राज्य की भलाई के लिए फैन्स के आगे हाथ फैलाता हूं तो इसमें शर्मिंदगी की कोई बात नहीं है।’ हासन ने ये भी कहा कि अगर इस देश के अमीर रेगुलरली टैक्स भरें तो देश बेहतर हो जाएगा।

Read More : https://www.bhaskar.com/news/NAT-NAN-kamal-haasan-rationalist-hindu-extremism-tamil-nadu-politics-5738153-PHO.html?HT2=

 

Related Post

पुणे में सबसे बड़ी डिजिटल डकैती, हैकर्स ने बैंक से उड़ाए 94 करोड़ रुपये

Posted by - August 14, 2018 0
पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में सबसे पुराने सहकारी बैंकों में से एक कॉसमॉस बैंक में अबतक की सबसे बड़ी डिजिटल डकैती…

वैज्ञानिकों ने विकसित की एक ऐसी तकनीक जो कैंसर के इलाज का साइड इफेक्ट करेगी कम

Posted by - October 31, 2018 0
बोस्टन। मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी (MIOT) के वैज्ञानिकों ने कैंसर के इलाज के लिए मशीन लर्निग की एक नई तकनीक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *