कारोबार सुगमता में लंबी छलांग, शीर्ष 100 देशों की जमात में भारत

120 0
  •     विश्व बैंक की डूइंग बिजनेस रिपोर्ट 2018 में भारत 130 से 100वें स्‍थान पर पहुंचा

कर भुगतान के पैमाने पर लंबी छलांग लगाते हुए भारत कारोबार सुगमता के लिहाज से पहली बार शीर्ष 100 देशों के क्लब में शुमार हुआ है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को उम्मीद है कि भारत इस साल और बेहतर प्रदर्शन करेगा और इस सूची में अगले साल 50वें स्थान पर आ सकता है। मंगलवार को जारी विश्व बैंक की डूइंग बिजनेस रिपोर्ट 2018 में भारत कारोबारी सुगमता के लिहाज से 30 स्थान की लंबी छलांग लगाते हुए 190 देशों की सूची में 100वें पायदान पर आ गया है। पिछले साल यह 130वें स्थान पर था। दिलचस्प है कि कारोबार सुगमता की रैंकिंग में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की वजह से इतना सुधार नहीं हुआ है जितना कि आय गणना एवं घोषणा मानदंडों (आईसीडीएस) के साथ ही साथ आधुनिक एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ईपीआर) सॉफ्टवेयर की वजह से हुआ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘कारोबारी सुगमता रैंकिंग में यह ऐतिहासिक उछाल विभिन्न क्षेत्रों में सर्वांगीण विकास के टीम इंडिया के प्रयास का नतीजा है। पिछले तीन साल में कारोबार को सुगम बनाने के लिए राज्य आपस में मुकाबला करते रहे हैं जिसका फायदा मिला है। हम इस रैंकिंग में और सुधार करेंगे।’ कारोबारी माहौल में सुधार के दृष्टिïकोण से भारत दुनिया का 5वां श्रेष्ठï प्रदर्शन करने वाले देश बना है। देश में कारोबारी सुगमता के लिए विश्व बैंक द्वारा तय 10 श्रेणियों में से 6 में भारत ने सुधार दर्ज की है। विश्व बैंक के उपाध्यक्ष, दक्षिण एशियाई क्षेत्र एनेट डिक्सन ने कहा, ‘देश में निरंतर और व्यवस्थित तरीके से सुधारों को लागू करने का फायदा मिला है।

Read more: http://hindi.business-standard.com/storypage.php?autono=140476

Related Post

मुहल्ले के युवक ने ही की थी कुशीनगर के युवा व्यापारी आशुतोष की हत्या

Posted by - April 19, 2018 0
पुलिस ने 48 घंटे के भीतर किया कपड़ा व्‍यापारी आशुतोष पटेल की हत्‍या का खुलासा हत्‍यारोपित अली रजा को पुलिस…

भारत-बांग्लादेश के बीच ‘बंधन एक्सप्रेस’ को पीएम ने दिखाई हरी झंडी

Posted by - November 9, 2017 0
कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-बांग्लादेश के बीच चलने वाली बंधन एक्सप्रेस ट्रेन को गुरुवार को अपनी समकक्ष बांग्लादेश की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *