एमएनएस की गुंडागर्दी के खिलाफ सड़क पर उतरे फेरीवाले, 7 गिरफ्तार

66 0
  • मुंबई के मलाड में फेरीवालों ने की राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं की पिटाई 
  • संजय निरुपम पर फेरीवालों को भड़काने के मामले में एफआईआर, 18 एमएनएस कार्यकर्ता भी गिरफ्तार

मुंबई। एमएनएस कार्यकर्ताओं की पिटाई के मामले में 7 फेरीवालों को गिरफ्तार किया गया है। सभी फेरीवालों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 यानी हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है। साथ ही एमएनएस के 18 कार्यकर्ताओं को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कांग्रेस नेता संजय निरुपम पर बिना इजाजत सभा करने और फेरीवालों को भड़काने को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है।

बता दें कि शनिवार को मलाड में फेरीवालों ने राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं की पिटाई कर दी थी। फेरीवाले छुपकर भागने के बजाय उनके सामने खड़े हो गए हैं। एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे रविवार को घायल कार्यकर्ताओं से मिलने अस्पताल पहुंचे।

संजय निरुपम के बयान से शुरू हुआ विवाद

पूरा विवाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम के एक बयान के साथ शुरू हुआ। दरसअल संजय निरुपम शनिवार दोपहर करीब एक बजे अपने पूरे दल-बल के साथ मुंबई में फेरीवालों से मिलने पहुंचे। इस दौरान वो कई बार एमएनएस और बीजेपी को ललकारते नज़र आए। भीड़ की मौजूदगी से गदगद संजय निरुपम ने कह दिया कि खुद को बचाने के लिए कानून हाथ में लेना पड़े तो लो, लेकिन गुंड़ों से मार मत खाओ।

संजय निरुपम की सभा खत्म होते ही एमएनएस कार्यकर्ता एक बार फिर से मलाड स्टेशन पर फेरीवालों के बीच पहुंचे, लेकिन इस बार उनका दांव उल्टा पड़ गया। फेरीवालों ने एमएनएस कार्यकर्ताओं की बीच बाजार पिटाई कर दी। मारपीट के दौरान एमएनएस का एक कार्यकर्ता सुशांत मालवदे बुरी तरह घायल हो गया। एमएनएस के नेता इस घटना के लिए संजय निरुपम के बयान को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

Read More : http://abpnews.abplive.in/india-news/mns-workers-beatan-case-registred-against-seven-hawkers-713434

 

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *