राम मंदिर मसले पर श्रीश्री रविशंकर करेंगे मध्यस्थता

58 0

राम मंदिर मसले के हल में मदद करने के लिए इसके कई पक्षकारों ने आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर से संपर्क किया है. आजतक-इंडिया टुडे से खास बातचीत में खुद श्रीश्री रविशंकर ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि वह इस मामले में मध्यस्थता के लिए तैयार हैं, लेकिन फिलहाल इस मामले में कोई पहल नहीं कर सके हैं.

श्रीश्री रविशंकर ने कहा, ‘एक ऐसे मंच की जरूरत है, जहां दोनों समुदाय के लोग अपने बीच का भाईचारा दिखा सकें. ऐसी ही कोशिश 2003-04 में भी की थी, लेकिन अब हालात बदल चुके हैं, लोग शांति चाहते हैं.’ इसके साथ ही उन्होंने साफ किया कि यह प्रयास वह खुद कर रहे हैं और यह पूरी तरह अराजनीतिक हैं.आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक ने कहा, ‘कुछ लोग मेरे पास आए और मुझसे मिले हैं. अभी बात बस इतनी ही है. सभी लोग सकारात्मक ऊर्जा के साथ आए थे और लोग इस मसले का हल चाहते हैं. यदि मुझे मध्यस्थ बनने की जरूरत पड़ी तो मैं इसके लिए तैयार हूं.’

इस बारे में मिल रही खबरों के अनुसार श्रीश्री रविशंकर से निर्मोही अखाड़ा और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआइएमपीएलबी) के कुछ सदस्य मिले हैं और उन्होंने आध्यात्मिक गुरु से यह अनुरोध किया है कि वह दोनों समुदायों के बीच लंबे समय से विवाद का विषय बने इस मसले को हल करने के लिए ‘मध्यस्थता’ करें. आध्यात्मिक गुरु ने बताया, ‘अभी इस मामले में कुछ कहना बहुत जल्दबाजी होगी. मैं चाहता हूं कि इस पूरे मसले को सौहादपूर्ण तरीके से हल किया जाए. दोनों समुदायों को साथ आकर उदारता दिखानी चाहिए. मेरी तो यही कामना है कि इस मसले का जल्दी से कुछ हल निकले.

Read more:http://aajtak.intoday.in/story/shree-shree-ravishankar-will-mediate-on-ram-temple-issue-1-960792.html

Related Post

राजनीति में नहीं लगा मन, अब फिल्मों में दिखेंगे लालू के बेटे तेजप्रताप

Posted by - June 27, 2018 0
राजद नेता ने ट्विटर पर अपनी आने वाली फिल्‍म ‘रुद्रा: द अवतार’ का पहला पोस्‍टर किया शेयर पटना। राष्‍ट्रीय जनता…

प्रोविडेंट फंड का पोर्टल हैक, 2.7 करोड़ लोगों का डेटा चोरी, EPFO ने किया इनकार

Posted by - May 2, 2018 0
नई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की वेबसाइट से 2.7 करोड़ लोगों के पर्सनल और प्रोफेशनल डेटा चोरी होने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *