बिहार में छठ के दौरान हादसों में 20 से ज्यादा लोगों की मौत

25 0

पटना: छठ पर्व की समाप्ति के दिन बिहार में कई जगह खुशियों का माहौल गमगीन हो गया. बिहार में दो दिनों में 40 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई. 20 से ज्यादा लोगों की छठ घाटों पर डूबने से मौत हो गई, तो वहीं 20 से ज्यादा लोग अपराध एवं सड़क दुर्घटनाओं के शिकार हुए है. समस्तीपुर में छठ के घाट पर एक परिवार ने तो एक साथ अपने बेटे और बेटी को खो दिया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डूबने से हुई  मौतों पर गहरा दुःख व्यक्त किया है और अविलम्ब अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिए हैं.

समस्तीपुर के आलमपुर कोदरिया पोखर में उसी गांव के निवासी विजय कुमार के बेटे रवि कुमार व बेटी काजल कुमारी की मौत डूबने से हो गई. बताया जाता है कि अर्घ्य देने के लिए दोनों भाई बहन तालाब में नहाने लगे थे. वे गहरे पानी में चले गए. वहां बहन पानी में डूबने लगी तो भाई आगे बढ़कर उसको बचाने गया. इसी क्रम में दोनों पानी में डूब गए. लोग दोनों को तालाब से निकालकर अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस दर्दनाक हादसे से पूरा गांव गमगीन हो गया.

डूबने से हुईं कई मौतें

अररिया में नहर घाट में बच्चा डूब गया जिसकी तलाश जारी है. यहीं पर छठ घाट पर तालाब में डूबने से युवक की मौत हो गई. मधेपुरा में छठ घाट पर तालाब में डूबने से किशोर की मौत हो गई. हजीपुर में तेरसिया घाट में युवक की डूबने से मौत हो गई. हाजीपुर में ही मदुरापुर घाट पर नदी में एक युवक गया जिसकी तलाश जारी है. इसी जिले में वाया नदी में एक 12 ‌‌वर्षीय बालक डूब गया जिसे खोजा जा रहा है. बांका में अर्ध्य देने के दौरान तालाब में डूबे युवक की मौत हो गई. सीतामढ़ी में पोखर में डूबने से एक व्यक्ति की मौत हो गई. अरवल में छठ घाट पर डूबने से दो की मौत हो गई. समस्तीपुर में तालाब में डूबने से एक लड़की की मौत हो गई. भागलपुर में तालाब में डूबे बालक की मौत हो गई. बेगूसराय में छठ पर्व के दौरान तालाब में डूबे युवक की मौत हो गई. नालंदा में सेल्फी लेने के चक्कर में तालाब में डूबने से बच्चे की मौत हो गई.

Read more: https://khabar.ndtv.com/news/bihar/more-than-20-people-died-in-accidents-during-bihar-chhath-festival-1768142

Related Post

ग्रामीण इलाकों में अधर में बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, हालात करते हैं सोचने पर मजबूर

Posted by - November 10, 2018 0
नई दिल्ली। भारत के ग्रामीण इलाकों में बच्चों की पढ़ाई और लिखाई अधर में है। सरकारी स्कूलों में बच्चों का…

आजादी के बाद पहली बार ठाकुरों के इस गांव में घोड़ी पर पहुंचा कोई दलित दूल्हा

Posted by - July 16, 2018 0
कासगंज जिले के निजामपुर गांव में संगीनों के साए में निकली दलित संजय जाटव की बारात कासगंज। छह महीने तक…

नौतनवा में बारातियों पर अराजक तत्वों ने किया हमला, 25 लोगों पर मुकदमा

Posted by - May 7, 2018 0
बारातियों पर एक समुदाय के दर्जनों युवकों ने किया हमला, महिलाओं से छेड़छाड़, गहने छीनने का आरोप शिवरतन कुमार गुप्ता…

पीएम मोदी ने अपने गांव के स्कूल से लेकर मंदिर तक में टेका माथा

Posted by - October 8, 2017 0
वडनगर को पीएम मोदी की सौगात – 600 करोड़ का अस्पताल, टीकाकरण के लिए इंद्रधनुष योजना शुरू गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *