सुनंदा पुष्कर केस : कोर्ट ने खारिज की स्वामी की एसआईटी जांच की याचिका

27 0
  • दिल्‍ली हाईकोर्ट ने कहा – मिसयूज न करें कोर्ट का, यह जनहित नहीं पॉलिटिकल याचिका

सुनंदा पुष्कर मामले में सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया. हाइकोर्ट ने कहा सुब्रमण्यम स्वामी की ये याचिका जनहित याचिका नहीं, बल्कि पॉलिटिकल याचिका है औऱ कोर्ट को इस तरह के मामलों मे सज़ग रहने की ज़रूरत है. कोर्ट को नहीं लगता कि इस मामले को जनहित याचिका के तौर पर सुना जाना चाहिए.

कोर्ट ने कहा कि ये काफी डिस्टर्बिंग है कि सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने ट्विटर हैंडल से याचिका की कॉपी पोस्ट कर दी. जबकि उस पर हाईकोर्ट में पहले सुनवाई भी नहीं हुई थी और ये भी तय नहीं था कि कोर्ट उस पर सुनवाई करेगा या नहीं. कोर्ट उम्मीद करता है कि स्वामी समेत पीआईएल लगाने वाले आगे इसका ध्यान रखेंगे.बता दें कि सुनंदा के बेटे ने भी इस मामले मे कोर्ट मे अर्जी लगाई थी कि इस याचिका को ख़ारिज किया जाना चाहिए. हाईकोर्ट ने कहा कि इस बात मे कोई दोराय नहीं कि इस मामले की जांच में पुलिस ने बिना ठोस कारण के समय लगाया है.

कोर्ट ने कहा कि याचिका लगाने वाले सुब्रमण्यम स्वामी ने याचिका में कहीं जिक्र नहीं किया है पर वो बीजेपी से जुड़े हुए है और केस कांग्रेस के एक नेता की पत्नी की हत्या से जुड़ा हुआ है. ये सीधे-सीधे लोगों का ध्यान खींचने के लिए लगाई गई याचिका लगती है.कोर्ट ने कहा कि स्वामी का आरोप है कि शशि थरूर ने UPA सरकार में केस को अपने प्रभाव से दबाने की कोशिश की और पुलिस जांच में भी अडंगा लगाया .जब कोर्ट ने आरोपों का आधार पूछा गया तो स्वामी ने कहा कि वो दूसरा एफिडेविट लगाना चाहते हैं. इस पर कोर्ट ने कहा कि ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस मामले मे कोर्ट का मिसयूज किया जा रहा है.

Read more: http://aajtak.intoday.in/story/subramanyam-swami-plea-rejected-in-court-on-sunanda-pushkar-case-tst-1-960460.html

Related Post

राष्ट्रगान के समय बारिश में बिना छतरी के खड़े रहे राष्ट्रपति कोविंद

Posted by - October 9, 2017 0
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रगान के सम्मान में बारिश में भीगते रहे, लेकिन उन्होंने छाता नहीं लिया. माता अमृतानंदमयी मठ में…

निठारी कांड : अंजलि हत्‍याकांड में पंढेर और कोली को फांसी की सजा

Posted by - December 8, 2017 0
गाजियाबाद की विशेष सीबीआई अदालत ने हत्‍याकांड को रेयरेस्ट ऑफ द रेयर माना गजियाबाद : गाजियाबाद की विशेष सीबीआई अदालत…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *