अमेरिकी सीनेटर बोले – उत्‍तर कोरिया से भी ज्यादा खतरनाक है पाकिस्‍तान

90 0
  • कहा – पाक के परमाणु हथियारों पर केंद्रीकृत नियंत्रण नहीं, इन्‍हें कभी भी चुराया और बेचा जा सकता है

वाशिंगटन। आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान की असलियत को अब दुनिया पूरी तरह से जान चुकी है। अमेरिका के शीर्ष पूर्व सीनेटर लैरी प्रेसलर ने पाकिस्तान और उत्तर कोरिया को बेहद दुष्ट राष्ट्र करार दिया है। इतना ही नहीं, उन्होंने चेताते हुए कहा कि पाकिस्तान उत्तर कोरिया से भी ज्यादा खतरनाक और खूंखार है। इसकी वजह यह है कि पाकिस्तान के परमाणु हथियारों पर कोई केंद्रीकृत नियंत्रण नहीं है। इनको कभी भी चुराया और बेचा जा सकता है। प्रेसलर ने कहा कि अमेरिका को पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित कर देना चाहिए। हमें पाकिस्तान पर कुछ प्रतिबंध लगाने चाहिए।

अमेरिकी सीनेट की आर्म्स कंट्रोल सबकमेटी के प्रमुख रहे लैरी प्रेसलर ने कहा कि पाकिस्तान के परमाणु हथियारों का इस्तेमाल अमेरिका के खिलाफ किया जा सकता है। इन घातक परमाणु हथियारों को पाकिस्तानी जनरल या कर्नल से बेहद आसानी से खरीदा भी जा सकता है। अमेरिकी सीनेट की आर्म्स कंट्रोल सबकमेटी के प्रमुख के तौर पर प्रेसलर ने साल 1990 में लागू किए गए उस संशोधन की वकालत की थी, जिसे अब प्रेसलर अमेंडमेंट संशोधन के तौर पर जाना जाता है। इसके तहत पाकिस्तान को सहायता और सैन्य साजो-सामान की बिक्री रोक दी गई, जिसने पाकिस्‍तान और भारत के साथ के रिश्तों की प्रकृति हमेशा के लिए बदल दी।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार आसानी से अमेरिका लाए जा सकते हैं। उसी तरह जैसे 9/11 में 20 या 30 लोगों द्वारा संचालित अभियान था। शीर्ष अमेरिकी थिंक टैंक ‘The Hudson Institute’ की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्रेसलर ने कहा कि पाकिस्‍तान के परमाणु हथियार पर मजबूत नियंत्रित नहीं हैं। इनकी बिक्री या चोरी आसानी से की जा सकती है। उन्हें पाकिस्तान से दुनिया में कहीं भी आसानी से ले जाया जा सकता है। हालांकि पूर्व सीनेटर ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम का भारत के खिलाफ इस्तेमाल किया जाएगा।

Read More : http://aajtak.intoday.in/story/former-us-senator-larry-pressler-said-pakistan-more-dangerous-than-north-korea-1-960557.html

 

Related Post

नरोदा पाटिया मामला : गुजरात HC ने बाबू बजरंगी की सजा रखी बरकरार, कोडनानी निर्दोष करार

Posted by - April 20, 2018 0
बाबू बजरंगी को थोड़ी राहत, ताउम्र उम्रकैद की सजा को घटाकर 21 साल कैद में तब्‍दील किया अहमदाबाद। गुजरात दंगों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *