लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर लड़ाकू विमानों ने दिखाए करतब

148 0
  • दुनिया ने देखी भारत की ताकत : हाईवे पर उतरा हरक्यूलिस, गुजरे 15 फाइटर प्लेन

नई दिल्ली। पूरी दुनिया ने मंगलवार को भारत की ताकत देखी। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर भारतीय वायुसेना के कुछ लड़ाकू विमानों ने लैंडिग और कुछ ने टच डाउन का अभ्यास किया। वायुसेना के 20 विमान आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर उतरे। ये किसी एक्सप्रेस-वे पर अब तक की सबसे बड़ी लैंडिंग थी।

सबसे पहले उतरा सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस

एक्सप्रेस वे पर सबसे पहले ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस ने अपना करतब दिखाया। इसमें से गरुड़ कमांडो अपनी गाड़ियों और साजोसामान के साथ उतरे। यह दुनिया का सबसे बड़ा मालवाहक जहाज है। यह विमान किसी भी मिसाइल को डिटेक्ट करने में सक्षम है। चीन की तरफ से घुसपैठ रोकने के लिए इसकी तैनाती की गई है।

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार को दूसरी बार किया टच डाउन

एक के बाद एक तीन मिराज-2000 विमानों ने दिखाया करतब

इसके तुरंत बाद एक के बाद एक तीन मिराज-2000 विमान उतरे। इसकी स्पीड 2495 किलोमीटर प्रति घंटा है। वायुसेना में 50 मिराज-2000 विमान हैं। ये विमान दूर तक मार करने के लिए 530डी मिसाइल से लैस हैं। यह हवा में ही दूसरे विमान को मार गिराने में सक्षम है। इसमें 30 एमएम की तोप लगी है।

जगुआर विमान भी नहीं हैं किसी से कम

मिराज विमानों के बाद जगुआर विमानों ने भी अपना करतब दिखाया। ये विमान 4750 किलो वजन के साथ उतर सकता है। इस विमान में दो इंजन और 300 एमएम की गन मौजूद है। यह 1350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बम वर्षा करने में सक्षम है। जगुआर विमान गहराई से मार करने वाले विमान हैं।

सबसे शक्तिशाली विमान है सुखोई 30 एमकेआई 

जगुआर के बाद सुखोई 30 एमकेआई विमान उतरा। इसकी रेंज 5200 किलोमीटर है। यह तीन हजार किलोमीटर दूर तक मार करने में सक्षम है। इसका रडार इसकी सबसे बड़ी ताकत है। यह 8 हजार किलो गोला-बारूद लेने जाने में सक्षम है। यह भारतीय वायुसेना का सबसे शक्तिशाली विमान है। यह दुश्मन विमान की पोजीशन दूर से ही पता लगा सकता है।

भारतीय वायुसेना ने क्यों किया ये ड्रिल

युद्ध के समय में किसी भी देश की कोशिश होती है कि वो दुश्मन के एयरबेस और एयर-स्ट्रीप को तहस-नहस कर दे ताकि उसके लड़ाकू विमानों को उड़ने या फिर लैंड करने का मौका ना दिया जाए, इसीलिए हाईवे को इस तरह के कॉन्टिजेंसी प्लान के लिए तैयार किया जाता है। मॉर्डन वॉरफेयर में एयरबेस के साथ-साथ लड़ाकू विमानों को जमीन पर उतारने के लिए खास तरह के एक्सप्रेस-वे और हाईवेज को ही लैंडिंग ग्राउंड की तरह इस्तेमाल किया जाता है, इसीलिए भारतीय वायुसेना इस तरह की ड्रिल कर रही है।

भारत में ये तीसरी बार है कि वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने किसी एक्सप्रेस-वे पर इस तरह का अभ्यास किया है। इससे पहले भी एक बार लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर लड़ाकू विमान टच डाउन कर चुके हैं। भारत में सबसे पहले मई, 2015 में यमुना एक्सप्रेस-वे पर मथुरा के करीब मिराज विमानों ने लैंडिंग की थी।

Read More : http://abpnews.abplive.in/india-news/air-force-fighter-planes-fly-on-lucknow-agra-expressway-711250

 

Related Post

भूकंप के तगड़े झटके से दहल गया अरुणाचल प्रदेश

Posted by - November 18, 2017 0
भारत-चीन सीमा पर आया 6.4 तीव्रता का भूकंप, चीन के कब्जे वाले तिब्बत का बड़ा इलाका प्रभावित  इटानगर। अरुणाचल प्रदेश से लगी भारत और…

पद्मावती विवाद पर बोले योगी – भंसाली भी कम दोषी नहीं

Posted by - November 21, 2017 0
सीएम बोले – इस मसले पर उपद्रवी प्रदर्शनकारियों और फिल्म निर्माताओं पर भी कार्रवाई होनी चाहिए लखनऊ। फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर जारी…

जो बच्चे सेकेंडरी स्कूल में बेस्ट फ्रेंड और स्कूल नहीं बदलते, उनके आते हैं ज्यादा मार्क्स :स्टडी

Posted by - October 9, 2018 0
लंदन। सेकेंडरी स्कूल में जो बच्चे अपने बेस्ट फ्रेंड और स्कूल नहीं बदलते हैं और साथ पढ़ते हैं उन बच्चों…

रियल लाइफ में इतनी ग्लैमरस है स्त्री की ‘चुड़ैल’, रंजनीकांत के साथ भी कर चुकी हैं काम

Posted by - September 13, 2018 0
मुंबई। एक्टर राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर की फिल्म स्त्री बॉक्स ऑफिस पर शानदार कमाई कर रही है। फिल्म के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *