Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

सुन्नी-शिया वक्फ बोर्ड के विलय के प्रस्‍ताव के विरोध में उतरे आजम

71 0

उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार भ्रष्‍टाचार के आरोपों से घिरे सुन्‍नी और शिया वक्‍फ बोर्ड का विलय करके ‘उत्‍तर प्रदेश मुस्लिम वक्‍फ बोर्ड’ के गठन पर विचार करेगी. इसके लिये शासन से प्रस्‍ताव मांगा गया है.प्रदेश के वक्‍फ राज्‍यमंत्री मोहसिन रजा ने बताया कि उनके विभाग के पास पत्रों के माध्‍यम से ऐसे अनेक सुझाव आये हैं कि शिया और सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड का परस्‍पर विलय कर दिया जाए, ऐसा करना कानूनन सही भी होगा.

नहीं चाहता विलय हो- आजम

वहीं सपा नेता आजम खान का कहना है कि बीजेपी का लेवल धीरे-धीरे नीचे हो रहा है, सरकार को यह पता नहीं है कि इस तरह का कानून 8-10 साल पहले ही आया था, लेकिन यूपी में इसे लागू नहीं किया गया था. क्योंकि यहां पर छोटे बोर्ड हैं. आज भी मैं नहीं चाहता कि इन दोनों बोर्डों का विलय हो.

क्या बोले थे मोहसिन रजा

मोहसिन रजा ने कहा “उत्‍तर प्रदेश और बिहार को छोड़कर बाकी 28 राज्‍यों में एक-एक वक्‍फ बोर्ड है. वक्‍फ एक्‍ट-1995 भी कहता है कि अलग-अलग शिया और सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड गठित करने के लिये कुल वक्‍फ इकाइयों में किसी एक तबके की कम से कम 15 प्रतिशत हिस्‍सेदारी होना अनिवार्य है. यानी अगर वक्‍फ की कुल 100 इकाइयां हैं तो उनमें शिया वक्‍फ की कम से कम 15 इकाइयां होनी चाहिये. उत्‍तर प्रदेश इस वक्‍त इस नियम पर खरा नहीं उतर रहा है.”

रजा बोले कि इस समय सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड के पास एक लाख 24 हजार वक्‍फ इकाइयां हैं जबकि शिया वक्‍फ बोर्ड के पास पांच हजार से ज्‍यादा इकाइयां नही हैं, जो महज चार प्रतिशत ही है. कानूनन देखा जाए तो यह पहले से ही गलत चल रहा है. रजा ने कहा कि सुन्‍नी और शिया मुस्लिम वक्‍फ बोर्ड के विलय के सुझाव को गम्‍भीरता से लेते हुए सरकार ने इस बारे में शासन से प्रस्‍ताव मांगा है. विधि विभाग के परीक्षण के बाद प्रस्‍ताव आएगा तो उस पर विचार करके ‘उत्‍तर प्रदेश मुस्लिम वक्‍फ बोर्ड’ बना दिया जाएगा.उन्‍होंने बताया कि संयुक्‍त बोर्ड बनने की स्थिति में उसमें वक्‍फ सम्‍पत्तियों के प्रतिशत के हिसाब से शिया और सुन्‍नी सदस्‍य नामित कर दिये जाएंगे. अध्‍यक्ष उन्‍हीं में से किसी को बना दिया जाएगा.

Read More: http://aajtak.intoday.in/story/up-government-shia-sunni-waqf-board-yogi-adityanath-azam-khan-1-959775.html

Related Post

बकरी के दूध से बनती है ये आइसक्रीम, कितनी भी गर्मी में रख दो पिघलती नहीं

Posted by - August 30, 2018 0
नई दिल्ली। आइस्क्रीम खाने का शौक तो हर किसी को होता है। आपने तरह-तरह के फ्लेवर वाली आइसक्रीम खाई होंगी, लेकिन क्या…

मेडिकल प्रवेश : इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस शुक्ला पर चलेगा महाभियोग

Posted by - January 31, 2018 0
तीन न्यायाधीशों की समिति ने प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को सौंपी अपनी जांच रिपोर्ट नई दिल्ली। मेडिकल कॉलेज प्रवेश घोटाले में…

खतरनाक बीमारियों से बचाएगा कृत्रिम एंटी ऑक्सीडेंट, 100 गुना ज्यादा है ताकतवर

Posted by - September 13, 2018 0
टोरंटो। वैज्ञानिकों के एक अध्ययन में यह खुलासा हुआ है कि मानव निर्मित एक एंटी ऑक्सीडेंट, ‘टैंपो’  प्राकृतिक रूप से मौजूद…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *