बिहार में अब शादी के लिए लेने होंगे 8 वचन

230 0
  • शादी के समय देना होगा शपथपत्र कि यह बाल विवाह नहीं और इसमें दहेज का कोई लेन-देन नहीं है
  • बाल-विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ कानून को कारगर ढंग से लागू करने को नीतीश सरकार की पहल

पटना। बिहार में अगर शादी करनी है तो आपको पहले शपथपत्र देना होगा। विवाह में सात वचन दिए जाते हैं लेकिन यह शपथपत्र आठवां वचन होगा जिसमें लिखना होगा कि यह विवाह बाल विवाह नहीं है और इसमें दहेज का कोई लेन-देन नहीं है। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत यह शपथपत्र देना जरूरी होगा। हालांकि शपथपत्र भरवाने का जिम्मा मैरेज हॉल के प्रबंधकों का होगा। बिना शपथपत्र भरे मैरिज हॉल की बुकिंग नहीं हो सकती है।

बिहार में बाल-विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान के तहत तरह-तरह के जन जागरण अभियान चलाए जा रहे हैं। इन प्रथाओं के खिलाफ कानून तो पहले से हैं लेकिन अब सरकार इस कानून को कारगर ढंग से लागू करने जा रही है। बिहार में आज भी 40 प्रतिशत बाल विवाह के मामले होते हैं और दहेज हत्या में इस राज्य का देश में दूसरा स्थान है। 2 अक्टूबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के सभी स्कूलों, कॉलेज, सरकारी दफ्तर में दहेज न लेने और न देने की शपथ दिलवाई थी और साथ में ये भी संदेश दिया कि जिस शादी में दहेज का लेन-देन हुआ है, वह उस शादी का बहिष्कार करेंगे।

यह शपथपत्र उसी का हिस्सा माना जा रहा है। यह शपथपत्र मैरिज हॉल, सामुदायिक भवन, होटल या ऐसे किसी भी सार्वजनिक जगहों पर शादी करते समय संबंधित संस्थान के संचालक के पास जमा कराना होगा। सरकार ये व्यवस्था भी करना चाहती है कि जिस दिन शादी हो, उसी दिन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था भी दी जाए। इस दिशा में भी काम चल रहा है।

Read More : http://aajtak.intoday.in/story/bihar-affidavit-is-necessary-for-marriage-1-959666.html

 

Related Post

सीआईए ने जारी किए ओसामा बिन लादेन से जुड़े हजारों दस्‍तावेज

Posted by - November 2, 2017 0
वाशिंगटन । अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए द्वारा आतंकी संगठन अलकायदा से जुड़े हजारों दस्‍तावेज जारी किए गए हैं। इसमें दुनिया के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *