भारत ने कश्मीरियों को भावनात्मक तौर पर खो दिया है : यशवंत सिन्हा

47 0
  • वरिष्‍ठ भाजपा नेता ने कहा – कश्‍मीर मसले के समाधान के लिए पाकिस्‍तान एक जरूरी तीसरा पक्ष

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था की ‘बदहाली’ पर वित्त मंत्री अरुण जेटली को घेरने के बाद वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने अब कश्मीर मसले पर सरकार को निशाने पर लिया है। सिन्हा ने कहा, ‘भारत ने घाटी के लोगों को भावनात्मक तौर पर खो दिया है।’ उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर विवाद में पाकिस्तान आवश्यक रूप से तीसरा पक्ष है। सिन्हा का यह बयान पार्टी नेतृत्व को नाराज कर सकता है।

जाने-माने पत्रकार करण थापर को दिए एक इंटरव्यू में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘मैं जम्मू-कश्मीर में बड़े पैमाने पर लोगों में अलगाव को देख रहा हूं। यह मुझे बहुत कचोटता है। हमने उन्हें भावनात्मक तौर पर खो दिया है। आपको यह समझने के लिए घाटी का दौरा करना प़़डेगा कि उनका हम पर भरोसा नहीं रहा। साथ ही मैं यह कहना चाहूंगा कि पाकिस्तान दुर्भाग्य से जम्मू-कश्मीर में एक आवश्यक तीसरा पक्ष है.. और इसीलिए अगर आप अंतिम समाधान चाहते हैं तो हमें पाकिस्तान को बातचीत में शामिल करना होगा। इस विवाद को लंबे समय के लिए नहीं खींचा जा सकता है।’

उन्होंने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर खूनखराबा रोकने की अपील की। कहा कि वहां कोई भी युद्ध नहीं जीत रहा है। उन्होंने कहा – ‘एलओसी सुस्पष्ट है और कारगिल युद्ध के दौरान यह साबित हो चुका है कि दुनिया हमारे साथ है, पाकिस्तान के नहीं। आप नियंत्रण रेखा को बदल नहीं सकते तो क्यों न नियंत्रण रेखा पर शांति हो। पाकिस्तान के साथ हमारे तमाम मतभेद के बाद भी नियंत्रण रेखा पर शांति कायम हो सकती है।’

Read More : http://www.jagran.com/news/national-india-has-lost-kashmiris-emotionally-says-yashwant-sinha-16797415.html

 

Related Post

गोरखपुर संसदीय उपचुनाव : इस बार निषाद प्रत्याशी पर दांव लगाएगी सपा

Posted by - February 15, 2018 0
निषाद दल से बात बनी तो डॉ. संजय निषाद के पुत्र संतोष होंगे समाजवादी पार्टी के प्रत्‍याशी गोरखपुर। गोरखपुर का संसदीय…

‘भारत माता की जय’ बोलने वाले फारुख के खिलाफ नमाज पर लगे शर्म करो के नारे

Posted by - August 22, 2018 0
श्रीनगर। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की श्रद्धांजलि सभा में जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला ने ‘भारत माता की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *