भाजपा सांसद पूनम महाजन बोलीं, मैंने भी झेली है यौन प्रताड़ना

64 0
  • प्रमोद महाजन की बेटी ने कहा – जब भी ऐसी परिस्थितियां आएं तो खुद को बेचारा न समझें

मुंबई। उत्तर मुंबई से बीजेपी सांसद और दिवंगत बीजेपी नेता प्रमोद महाजन की बेटी पूनम महाजन ने अहमदाबाद में भारतीय प्रबंधन संस्थान के छात्रों को संबोधित करते हुए अपने साथ हुए यौन शोषण का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि जब उनके पास रोज कार से आने-जाने के पैसे नहीं थे तब वह अपनी क्लास के लिए वर्ली से वर्सोवा तक ट्रेन में सफर करती थीं और उस दौरान उन्‍हें विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ा। हालांकि जब उन्हें कोई गलत तरह से देखता था तो उन्हें कभी खुद पर तरस नहीं आया।

भाजपा नेत्री ने छात्रों से खासकर लड़कियों से कहा कि इस तरह की स्थिति में जब कोई गलत तरह से आपकी तरफ देखता है तो आप खुद को बेचारा न समझें। उन्होंने कहा कि धरती पर सभी महिलाओं ने, खासकर भारत में, ऐसी परिस्थितियों का सामना किया है। उन्होंने कहा, ‘हर भारतीय महिला पर छींटाकशी की गई है या उसे गलत तरीके से छुआ गया है। ऐसा कुछ अनुभव होने पर खुद को बेचारा समझ तरस नहीं आना चाहिए।’

पूनम संस्थान में ‘ब्रेकिंग द ग्लास सीलिंग’ पर बोल रहीं थीं। उन्होंने महिलाओं की सफलता को लेकर भारत को अमेरिका से काफी आगे बताया। उन्होंने कहा कि अमेरिका में कोई महिला राष्ट्रपति नहीं हुई जबकि हमारे यहां महिलाएं राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री, सभी पदों पर रही हैं। इन लोगों ने ‘ग्लास सीलिंग’ को तोड़ा है। यह हमारे ऊपर है कि हम इस चलन को आगे लेकर जाएं। खुद पर तरस नहीं आना हमारे हाथ में है। कोई आपको परेशान करता है तो उसे थप्पड़ मारें और यह न सोचें कि उसने ऐसा क्यों किया। उन्होंने कहा कि राजनीति में पुरुष साधारण हो सकते हैं, महिलाएं नहीं। उन्होंने टीवी धारावाहिकों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह महिलाओं की छवि का खराब करते हैं।

Read More : http://navbharattimes.indiatimes.com/metro/mumbai/politics/i-too-was-sexually-harassed-mahajan/articleshow/60907047.cms

Related Post

एनआरआई को बैंक खाते व पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य नहीं

Posted by - November 18, 2017 0
नई दिल्लीः भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यू.आई.डी.ए.आई.) ने अप्रवासी भारतीयों (एन.आर.आई.) और भारतीय मूल के व्यक्तियों (पी.आई.ओ.) को बड़ी राहत…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *