भूमि : बॉलीवुड में फैमिली फिल्म से संजय दत्त का कमबैक

119 0

बॉलीवुड में संजय दत्त को ‘संजू बाबा’ के नाम से जाना जाता है, लेकिन फिल्म ‘खलनायक’ और ‘मुन्नाभाई एमबीबीएस’ के बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट होने की वजह से इन्हें बॉलीवुड का ‘खलनायक’ और ‘मुन्नाभाई’ के नाम से पहचान मिली। संजय दत्त बॉलीवुड में अब तक 35 साल बिता चुके हैं। वर्ष 2002 में संजय दत्त ने एक फिल्म की थी ‘पिता’। उस फिल्म में संजय एक ऐसे गरीब पिता के रोल में थे जिसकी 9 साल की बेटी के साथ गैंगरेप हो जाता है। 15 साल बाद संजय दत्त एक बार उसी तरह के किरदार से कमबैक कर रहे हैं। शुक्रवार को यह फिल्‍म रिलीज हुई। लेकिन संजय दत्त की मजबूत एक्टिंग कमजोर कहानी की भेंट चढ़ जाती है, क्योंकि ये फिल्म आपको ‘पिता’ और ‘पिंक’ के बीच झूलती हुई नजर आएगी।

कहानी

फिल्म भूमि की कहानी पिता और बेटी के रिश्तों पर आधारित है। फिल्म में पिता बने संजय दत्त एक मोची का किरदार निभा रहे हैं जिसका नाम है अरुण सचदेवा। उनकी बेटी भूमि की भूमिका निभाई है अदिति राव हैदरी ने। दोनों की जिंदगी अच्छी चल रही होती है। इसी बीच धौलपुर के एक गैंग की नजर भूमि पर पड़ जाती है। इस गैंग का लीडर यानी मुख्य विलेन है धौली (शरद केलकर)। धौली अपने तीन साथियों के साथ भूमि से रेप करता है। इसके बाद भूमि और अरुण को लोग परेशान करने लगते हैं। लेकिन इन सबसे संभलते हुए पिता और बेटी अपने इरादे मजबूत करते हैं और धौली और उसके साथियों से बदला लेते हैं। फिल्म की कहानी में कोई नयापन नहीं है। फिल्म आपको 90 के दशक के फिल्मों की याद दिलाएगी।

स्क्रिप्ट और डायरेक्शन

फिल्म की कहानी लिखी है संदीप सिंह ने और फिल्म को डायरेक्ट किया है ओमंग कुमार ने। ओमंग कुमार ने इससे पहले ‘मैरी कॉम’, ‘सरबजीत’ और ‘इश्क विश्क’ जैसी हिट फिल्में बनाई हैं। हर बार की तरह ओमंग कुमार ने इस बार भी कमाल किया है। फिल्म के कई डॉयलॉग बहुत ही शानदार हैं। एक जगह शरद केलकर बोलता है – ‘हमारे धौलपुर में कहावत है सेव द वॉटर, अब आगरा में फेमस होगा सेव द डॉटर’। ऐसे ही और भी बहुत सारे डॉयलॉग इस फिल्म में हैं, जो दर्शकों को काफी प्रभावित करेंगे।

अभिनय

फिल्म में तीन किरदार मुख्य हैं भूमि, अरुण सचदेवा और धौली जिन्हें निभाया है अदिति राव हैदरी, संजय दत्त और शरद केलकर ने। तीनों ही मंझे हुए कलाकार हैं। जब भी स्क्रीन पर आते हैं तो अपने जबरदस्त अभिनय से लोगों का दिल जीत लेते हैं। फिल्म ‘पिता’ के बाद एक बार फिर संजय दत्त एक बेटी के पिता बने हैं और पिता के रोल में भी उतने ही नेचुरल लग रहे हैं जितना गैंगस्टर के रोल में लगा करते थे।

गीत-संगीत

फिल्म में म्यूजिक दिया है सचिन-जिगर ने और बैकग्राउंड म्यूजिक है इस्माइल दरबार का। फिल्म का गाना ‘लग जा गले..’ और ‘ट्रीपी ट्रीपी…’ काफी हिट साबित हो रहे हैं। और लोगों को पसंद आ रहे हैं।

देखें या न देखें

जेल से आने के बाद ‘भूमि’ संजय दत्त की कमबैक मूवी है, इस लिहाज से तो आप फिल्म देख सकते हैं। फिल्म में बाप-बेटी के खूबसूरत रिश्तों को दिखाया गया है। अगर आप को ड्रामा फिल्में जैसे कि 90 की दशक की फिल्में पसंद हैं तो आप को यह फिल्‍म जरूर देखनी चाहिए। जो लोग गंभीर विषयों पर बनी फिल्म न देखते हों, उन्‍हें यह शायद न पसंद आए।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *