शुभ मंगल सावधान

‘शुभ मंगल सावधान’: फुल्ली एंटरटेनिंग, रोमांटिक व कॉमेडी फिल्म

184 0

फिल्म देख कर आप भी कहेंगे पैसा वसूल हुआ

दीपाली अग्रहरि

इस समय बॉलीवुड की फिल्मों में में देसी कहानियों का ट्रेंड चल रहा है। बॉलीवुड ने एक बार फिर देसीपन के रंग में रंगी और बहुत ही सिंपल चीज़ों के जरिये ऐसी ही कहानी पेश की है। हम बात कर रहे हैं आयुष्मान खुराना और भूमि पेडनेकर की फिल्म ‘शुभ मंगल सावधान’ की, जो 1 सितम्‍बर को रिलीज हो चुकी है। आरएस प्रसन्ना के निर्देशन में बनी इस फिल्म में आयुष्मान और भूमि के रूप में एक नॉन हॉट और नॉन कूल टाइप जोड़ा देखने को मिला जो एक दूसरे से शादी कर साथ रहना तो चाहते हैं लेकिन सारा मामला सेट होने के बावजूद दोनों की शादी में रुकावटें आती है। इस फिल्म में आयुष्मान ‘मुदित’ और भूमि उनकी प्रेमिका ‘सुगंधा’ की भूमिका में हैं। फिल्म की कहानी एक ऐसे प्रेमी जोड़े की है जो एक दूसरे से बेहद प्यार करते हैं।

शुभ मंगल सावधान
शुभ मंगल सावधान

क्या है फिल्म की कहानी :

फिल्म की कहानी दिल्ली के रहने वाले मुदित की है, जिसकी सगाई दिल्ली की ही सुगंधा से हो जाती है।फिल्म की शुरुआत में मुदित को सुगंधा से प्यार हो जाता है लेकिन उससे इजहार करने से डरता है। वहीं सुगंधा मुदित की इस लुक्का छुप्पी को नोटिस करती है और उसे पसंद करने लगती है। एक दिन मुदित की इस लुक्का छुप्पी से तंग आकर सुगंधा खुद मुदित को फ़ोन करके कहती है –‘घूरते ही रहोगे या कुछ बोलोगे भी, क्या आप फट्टू हैं।’ इसके बाद दोनों के बीच बातचीत शुरू होती है और दोनों प्यार के रिश्ते में बंध जाते हैं।

मेल परफॉर्मेंस एन्जाइटी

‘मर्द को दर्द नहीं होता’, यह कहावत तो आपने सुनी ही होगी, लेकिन इस फिल्म में मुदित (आयुष्मान) ऐसे मर्द की कहानी बयां कर रहे हैं जो न किसी को दर्द देता है और न ही किसी को देने देता है।फिल्म की कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब मुदित और सुगंधा के बीच रिश्ता कायम होता है। इसी सब के बीच मुदित को मेल परफॉर्मेंस एन्जाइटी की समस्या होने लगती है।इसका पता तबचलता है जब कई मौकों पर मुदित और सुगंधा करीब आने की कोशिश करते हैं और मुदित सुगंधा को निराश करता है। मुदित की इस समस्या का पता जब सुगंधा के परिवार को चलता है तो वो शादी से इनकार कर देते हैं लेकिन सुगंधा परिवार के विपरीत मुदित का साथ देती है और उसकी ताकत बनती है।

एक्टिंग

फिल्म में आयुष्मान की मुदित के रूप में भूमिका काफी सराहनीय है। एक बार फिर आयुष्मान ने सिद्ध कर दिया कि ऐसे देसी रोल उन पर फिट बैठते हैं। भूमि के रूप में सुगंधा का डेयरिंग गर्ल का किरदार भी बहुत पसंद किया गया है।

क्यों देखें फिल्म

फिल्म का फर्स्ट पार्ट कॉमेडी से भरपूर है तो वहीं दूसरा पार्ट गंभीर हो जाता है। बता दें कि यह फिल्म सेक्स कॉमेडी कत्तई नहीं है बल्कि पूरी तरह से एन्टरटेनर रोमांटिक कॉमेडी है, जिसे देखने के बाद आप खुद भी कहेंगे कि फिल्म पैसा वसूल है।

Related Post

अली अब्बास के बर्थडे बैश में कैटरीना के लुक ने किया सभी को शॉक, जमकर हुईं ट्रोल

Posted by - January 18, 2018 0
बॉलीवुड के फिल्म डायरेक्टर अली अब्बास जफर का बीते दिन यानी 17 जनवरी को बर्थडे था। उनके बर्थडे में उनके करीबी लोग…

वैश्विक लोकतंत्र सूचकांक में भारत 32वें से 42वें पायदान पर खिसका

Posted by - February 1, 2018 0
ब्रिटेन के मीडिया संस्थान ‘द इकोनॉमिस्ट ग्रुप’ की आर्थिक आसूचना इकाई ने जारी किया सूचकांक शीर्ष 10 देशों में न्यूजीलैंड, डेनमार्क,…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *