vidya balan

लखनऊ में चली विद्या की पाठशाला

169 0
  • कहा – इंगलिश में नाम बताना जब, ‘हिज नेम इज’ के आगे उसका नाम लगाना तब

लखनऊ। मोहनलालगंज ब्‍लॉक के गाँव गोपालखेड़ा में बुधवार 9 अगस्त को निहार शांति आंवला हेयर ऑयल द्वारा आयोजित ‘एक कदम शिक्षा की ओर’ कार्यक्रम में बॉलीवुड अभिनेत्री विद्या बालन ने बच्चों को अंग्रेजी पढाई। विद्या बालन निहार शांति आंवला हेयर ऑयल की ब्रांड अम्बेसडर हैं। इस तेल का 5% लाभांश शिक्षा के लिए योगदान में खर्च होता है।

‘एक कदम शिक्षा की ओर’ को और आगे बढ़ाने के लिए विद्या बालन पूरे देश में घूम-घूमकर इसे प्रमोट कर रही हैं। बच्चे अंग्रेजी कैसे सीखें और अन्य बच्चों की तरह अंग्रेजी में कैसे बात करें, इसके लिए उन्‍होंने एक हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया है। इस हेल्पलाइन नंबर पर जब बच्चे फ़ोन करेंगे तब शांति दीदी यानी विद्या बालन अब्बू व डब्बू के जरिये बच्चों को शिक्षा देंगी। गोपालखेड़ा के प्राइमरी स्कूल पर पहुँच कर विद्या बालन ने बच्चों संग महिलाओं और पुरुषों को ‘पाठशाला फनवाला’ के बारे में बताया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में गांव के प्रधान सुनील सिंह ने भी अहम भूमिका निभाई। इस मौके पर शांति दीदी से the2is.com की दीपाली अग्रहरि ने की बातचीत :

गाँव में लड़कियों को टीवी देखने को ही नहीं मिलता फिर वो अंग्रेजी कैसे सीखेंगी?

शांति दीदी : फन पाठशाला के जरिए अंग्रेजी सीखने के लिए मोबाइल का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जहाँ मोबाइल भी नहीं है या जिन लड़कियों के पास मोबाइल नहीं है, वे रेडियो पर भी 2 बजे से 4 बजे तक अंग्रेजी सीख सकती हैं।

पाठशाला फनवालाको अभी तक कितनी सफलता मिली है?

शांति दीदी : पहले इसका नाम ‘मोबाइल पाठशाला’ था। इस साल फरवरी से हेल्पलाइन एक्टिव है और अभी तक 7.5 लाख बच्चों ने इस हेल्पलाइन का इस्तेमाल किया है। बस अपने फ़ोन से टोल फ्री नंबर 8055667788 पर फ्री कॉल करें या ऑल इंडिया रेडियो पर सुनें ‘पाठशाला फनवाला’।

भारत में अवेयरनेस प्रोग्राम सफल नहीं हो पाते, आपका क्या कहना है?

शांति दीदी : कोई भी पॉलिसी या प्रोग्राम तभी सफल होता है जब लोग खुद उससे जुड़ें। सरकार की बहुत सी योजनाएं आती हैं पर जब तक लोग खुद आगे नहीं आएंगे अपने हक के लिए, तब तक सफलता मिलना मुश्किल हो जाता है।

आपका लेटेस्ट प्रोजेक्ट क्या है?

शांति दीदी : अभी तो बस यही चाहती हूँ कि ‘पाठशाला फनवाला’ हेल्पलाइन से ज्यादा से ज्यादा बच्चे जुड़ें।

यूपी में आजकल चोटी कटने की खबर खूब चर्चा में है। इस पर आपका क्या कहना है? क्या बड़े बाल न रखें?

शांति दीदी : देखिये बाल बड़े या छोटे रखने से नहीं, बाल स्वस्थ हों तभी अच्छे लगते हैं। और कोई चोटी काट रहा, इस डर से बाल लम्बे न रखें तो इस बात से मैं सहमत नहीं।

Related Post

राम जन्मभूमि मामला : सुप्रीम कोर्ट ने दखल देने वाली सभी याचिकाएं खारिज कीं

Posted by - March 14, 2018 0
अयोध्या मामले में सर्वोच्च अदालत ने दिया पहला फैसला, स्वामी से पूछा आप को क्यों मानें पक्षकार 32 हस्तक्षेप याचिकाओं…

महिलाओं-बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा पर दिल्ली हाईकोर्ट सख्त, बनाई समिति

Posted by - August 3, 2018 0
नई दिल्‍ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने महिलाओं और बच्चों के खिलाफ बढ़ती यौन हिंसा पर गहरी चिंता जताई है। हाईकोर्ट ने कहा है…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *