शिमला के कोटखाई थाने में रेप और मर्डर के आरोपी की हत्या

134 0
  • गुस्‍साए लोगों ने कोटखाई थाने में लगाई आग, पथराव में छह पुलिसकर्मी घायल
  • मुख्‍यमंत्री बोले – मामले की होगी जांच, राज्‍यपाल ने डीजीपी से दो दिन में मांगी रिपोर्ट

शिमला। शिमला जिले के कोटखाई में गुडि़या से दुष्कर्म और उसकी हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी सूरज नेगी की जेल में ही उसके साथी राजू नेगी ने हत्या कर दी। यह घटना कोटखाई पुलिस थाने में मंगलवार रात को हुई। इससे अब यह मामला और उलझता जा रहा है। सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं और कोटखाई थाने के सारे स्टाफ को निलंबित कर दिया है। उधर, सूरज की हत्या से गुस्साए हजारों की तादाद में लोगों ने कोटखाई थाने का घेराव करने के बाद पथराव किया और आग लगा दी। पथराव में छह पुलिसकर्मी घायल  हुए हैं जबकि हालात बेकाबू होते देख मदद के लिए सीआरपीएफ की टुकड़ी को बुलाया गया है।

गुडि़या प्रकरण में देर रात पुलिस लॉकअप में आरोपी की हत्या के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। जानकारी मिलते ही लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और वह सड़कों पर उतर आए। हजारों की तादाद में कोटखाई में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने थाने को घेर लिया और पथराव शुरू कर दिया। लोग सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे। ठियोग व शिमला के ढली में आक्रोशित लोगों ने चक्काजाम कर दिया। लोग पहले ही गुडिया मर्डर केस में पुलिस जांच से संतुष्ट नहीं थे और अब आरोपी की हत्या से उन्‍हें एक और मुद्दा मिल गया है। वहीं, इस घटना से पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं। क्या सूरज नेपाली कुछ तथ्य बताना चाहता था, जो राजू नहीं चाहता था? पुलिस लॉकअप में कैसे एक आरोपी की हत्या हो गई व वारदात के वक्त पुलिस कहां थी और क्या कर रही थी?
मुख्‍यमंत्री बोले, आरोपी की हत्‍या की होगी जांच
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा है कि इस मामले की गुडि़या की हत्या मामले से अलग जांच होगी। मुख्य आरोपी अभी जिंदा है। उससे पूछताछ के बाद ही पता चलेगा कि उसने वारदात को अंजाम क्यों दिया। उधर, कोटखाई प्रकरण को लेकर राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने पुलिस महानिदेशक सोमेश गोयल को तलब किया है। उन्होंने राज्य सरकार से दो दिन में मामले पर रिपोर्ट तलब की है।

थाने का पूरा स्टाफ निलंबित
कोटखाई थाना के लॉकअप में आरोपी सूरज नेपाली की हत्या के बाद पूरा कोटखाई थाना सस्पेंड कर दिया गया है। थाना के एसएचओ से लेकर सभी कर्मचारियों पर निलंबन की गाज गिरी है। इसकी पुष्टि एसपी शिमला डीडब्लयू नेगी ने की है। गौरतलब है कि गुडि़या मामले के सभी आरोपी कोटखाई पुलिस थाने में रिमांड पर बंद हैं। बताते हैं कि मंगलवार रात करीब 12 बजे मुख्य आरोपी राजू का दूसरे आरोपी सूरज नेपाली के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। देखते ही देखते दोनों आपस में भिड़ गए। राजू ने सूरज को जोर से जमीन पर पटक दिया, जिससे सूरज नेपाली की मौत हो गई। आरोपियों का 20 जुलाई को पुलिस रिमांड खत्म हो रहा था, फिर उन्‍हें कोर्ट में पेश किया जाना था।

Read More : http://www.jagran.com/himachal-pradesh/shimla-people-in-anger-after-killing-of-murder-suspect-in-custody-16395349.html

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *